pic4नयी दिल्ली,  भारत के समुद्री हितों के लिए बड़ी राहत वाला निर्णय लेते हुए अंतर्राष्ट्रीय समुद्री और नौवहन एजेन्सी ने देश के पश्चिमी तटीय क्षेत्र को समुद्री लुटेरों के अत्यधिक खतरे वाले क्षेत्र से बाहर कर दिया है।

यूरोपीय संघ की एजेंसी ने समुद्री लुटेरो से अत्यधिक खतरे वाले क्षेत्र की समीक्षा के दौरान कल यह निर्णय लिया, जो आगामी एक दिसम्बर से लागू होगा । इससे भारतीय नौवहन कंपनियों को हर साल लगभग दो खरब रुपये की बचत होगी।

Related Posts: