नयी दिल्ली,  भारत ने ब्रिटेन से शराब कारोबारी विजय माल्या को प्रत्यर्पित करने का एक बार फिर आग्रह किया है, आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि गृह सचिव राजीव महर्षि ने ब्रिटेन के गृह सचिव पैट्सी विल्किंसन के साथ आज यहां बैठक में यह मामला प्रमुखता से उठाया। समझा जाता है कि भारत ने बैठक में दोनों देशों के बीच आतंकवाद निरोधक कार्रवाइयों में सहयोग बढ़ाने के लिए द्विपक्षीय कानूनी सहायता संधि के मुद्दे को भी उठाया।

इसके साथ ही बैठक में खुफिया सूचनाओं के आदान-प्रदान की प्रणाली को मजबूत करने पर भी चर्चा हुई। प्रत्यर्पण के लिए दोनों देशों के बीच अभी तक कोई संधि नहीं हुई है। उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार ने ब्रिटेन से माल्या के प्रत्यर्पण के लिए इस साल फरवरी में औपचारिक अनुरोध किया था। माल्या को स्काटलैंड यार्ड पुलिस ने गिरफ्तार किया था लेकिन वेस्टमिंस्टर की अदालत ने उसकी जमानत मंजूर कर ली थी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कल कहा था कि प्रत्यर्पण की प्रक्रिया जारी है। ब्रिटेन के कानून के मुताबिक माल्या की जमानत मंजूर कर ली गयी है और इसी माह बाद में अदालत में उसका मामला फिर आएगा। इस बीच, सूत्रों ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय और केन्द्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) माल्या के मामले में ब्रिटेन की सरकारी एजेंसियों के साथ सबूत को साझा कर सकती हैं।

Related Posts: