नई दिल्ली,  भारत की आर्थिक वृद्धि चालू वित्त वर्ष के दौरान अच्छे मानसून और विनिर्माण में तेजी के साथ 8 फीसदी को पार कर जाएगी। यह बात नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढिय़ा ने कही।

पनगढिय़ा ने कहा, ‘भारत चालू वित्त वर्ष के दौरान 8त्न की वृद्धि दर को पार कर जाएगा। अच्छे मानसून से इस साल कृषि क्षेत्र की वृद्धि बढ़कर 4-5फीसदी हो जाएगी।’ पिछले वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में वृद्धि विनिर्माण गतिविधि में तेजी और कृषि क्षेत्र के प्रदर्शन में सुधार के मद्देनजर 7.9फीसदी पर पहुंच गयी थी। केंद्रीय सांख्यिकी संगठन (सीएसओ) द्वारा जारी आंकड़े के मुताबिक चौथी तिमाही के दौरान विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर 9.3फीसदी जबकि कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर 2.3 फीसदी रही।

भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 2015-16 में 7.6फीसदी रही जो पांच साल का उच्चतम स्तर है। ऐसा मुख्य तौर पर विनिर्माण क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन और कृषि क्षेत्रों में सुधार के मद्देनजर हुआ। पनगढिय़ा का मानना है कि अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर उंची बनी रहेगी क्योंकि राजस्व बढ़ रहा है और मुद्रास्फीति सीमा में है।

Related Posts: