modi4दोहा,   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि भारत के बारे विश्व समुदाय के विचार बदल गये हैं और अब हर कोई इस देश में दिलचस्पी ले रहा है। श्री मोदी ने यहां भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसे समय में जब लोगों की क्रय शक्ति कम होने के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था संकट से जूझ रही है तथा निर्यात भी घट गया है, भारत का सकल घरेलू उत्पाद 7.9 प्रतिशत पर पहुंच गया है। देश में लगातार दो वर्ष तक सूखा पड़ने के बावजूद विकास दर की यह स्थिति है।

श्री मोदी ने कहा कि पहले केंद्रीय करों का केवल 34 फीसदी विभाज्य हिस्सा राज्यों को जाता था और 65 फीसदी केंद्र के पास रहता था लेकिन 14वें वित्त आयोग की रिपोर्ट के बाद अब एकदम उलट 65 फीसदी हिस्सा राज्यों को और 35 फीसदी केंद्र के पास रहता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सेना में ‘वन रैंक, वन पेंशन’ का मुद्दा पिछले चार दशकों से लटका हुआ था। राजनीतिक दल चुनाव के दाैरान इसके करने के वादे करते थे लेकिन सत्ता में आने के बाद भूल जाते थे। कई सरकारें बदलीं लेकिन इस पर कोई फैसला नहीं हुआ।

श्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार वन रैंक, वन पेंशन लागू किया क्योंकि जिन लोगों ने देश के लिए बलिदान दिया, उनकी गरिमा का सम्मान किया जाना चाहिए।

Related Posts: