james_alixनयी दिल्ली 27 अगस्त.सेशल्स ने महासागरीय या नीली अर्थव्यवस्था (ब्लू इकोनॉमी) को हिन्द महासागरीय देशों एवं अफ्रीका महाद्वीप के भविष्य की कुंजी बताते हुए इसमें भारत के सहयोग को अत्यंत महत्वपूर्ण करार दिया है और कहा है कि भारत के बिना नीली अर्थव्यवस्था महज कागज़ों में एक अवधारणा के रूप में ही दर्ज रह जाएगी. सेशल्स के राष्ट्रपति जेम्स एलिक्स मिशेल ने भारतीय वैश्विक संबंध परिषद में ‘समुद्री सुरक्षा एवं नीली अर्थव्यवस्था’ विषय पर एक व्याख्यान में कहा कि हिन्द महासागर हमारी साझी विरासत है और भावी पीढिय़ों के लिये अनछुयीं संभावनाओं को समेटे हुए है.

हमें समुद्र के साथ नये तरीके से जुडऩा होगा, नवोन्मेषण, अनुसंधान एवं उद्यमिता को बढ़ावा देना होगा. श्री मिशेल ने कहा कि भारत एक प्रेरणादायी राष्ट्र है तथा महासागरीय अर्थव्यवस्था के लिये भारत का साथ मिलना बहुत अहम बात है.

Related Posts: