pranabकोलकाता,   राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने आज कहा कि देश के विकास के लिये राष्ट्रीय एकता की पहचान काे बनाये रखना आवश्यक है। श्री मुखर्जी ने यहां इंदिरा गांधी मेमाेरियल लेक्चर आॅफ द एशियाटिक सोसायटी में आयोजित ‘राष्ट्रीय एकता’ विषय पर अपने व्याख्यान में कहा कि भारत ने अपने वृहत आकार और विभिन्न विविधता के बावजूद सदियों से अपनी एकता की पहचान को बचाये रखा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत ने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। ”

उन्होंने कहा “राष्ट्रीय एकता का नींव सभी भारतीय के दिल और दिमाग में होना चाहिये। प्रत्येक भारतीय को यह पता होना चाहिये कि देश क्या है और इसके लिये क्या किया गया है। हमारे देश का एक लंबा इतिहास रहा है और यहां की मिट्टी में महान सभ्यतायें बढ़ी हैं।” उन्होंने कहा कि दुनिया के विभिन्न जगहों से यहां आकर भारतीय संस्कृति को बेहतरीन बनाने में योगदान देने वाले लोगों के बारे में प्रत्येक भारतीय को जानना चाहिये। विभिन्न धर्मों और यहां जन्म लिये महान संतो के ज्ञान को प्रत्येक लोगों के शिक्षा का हिस्सा होना जरुरी है।

Related Posts: