10kaहरारे, 10 जुलाई. अंबाटी रायुडू (नाबाद 124) के शानदार शतक और उनकी स्टुअर्ट बिन्नी (77) के साथ 160 रन की शानदार साझेदारी तथा निर्णायक ओवर में तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के सटीक प्रदर्शन से भारत ने बेहद रोमांचक पहले वनडे में जिम्बाब्वे को चार रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली. भारत ने निर्धारित 50 ओवर में छह विकेट पर 255 रन बनाने के बाद कप्तान एल्टन चिगुंबुरा (नाबाद 104) के शतकीय प्रहार पर सवार मेजबान टीम की चुनौती को सात विकेट पर 251 रन पर रोक दिया.

जिम्बाब्वे को आखिरी ओवर में जीत के लिये मात्र दस रन की दरकार थी लेकिन भुवनेश्वर ने जिम्बाब्वे के कदमों को रोक कर टीम इंडिया को जश्न मनाने का मौका दे दिया. जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में पहले वनडे मैच में चार रन की रोमांचक जीत के बाद पहली बार टीम इंडिया की कप्तानी कर रहे अजिंक्या रहाणे के चेहरे में खुशी के साथ संतोष साफ झलक रहा था. रहाणे ने भारत की जीत के बाद कहा कि हमने आज अच्छा खेल दिखाया. जिम्बाब्वे के गेंदबाज अच्छी गेंदबाजी कर रहे थे और शुरुआत में बल्लेबाजी करना आसान नहीं होता है.

अंबाटी रायुडू ने वाकई अच्छी बल्लेबाजी कर शानदार शतक लगाया. कप्तान ने कहा कि हम जानते थे कि 255 के स्कोर का बचाव किया जा सकता है और गेंदबाजों को उसका पूरा श्रेय जाता है. टीम में लंबे समय के बाद वापसी करने वाले हरभजन सिंह और युवा लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल ने संयमित गेंदबाजी की. मैच के अंतिम क्षण तनाव भरे थे लेकिन हमने अंतत: इस पर काबू पा लिया. मैच में शानदार शतक जड़ ‘मैन आफ द मैचÓ बने रायुडू ने कहा कि मैच की शुरुआत में बल्लेबाजी करना आसान नहीं था. मैंने और ‘अज्जूÓ (रहाणे) ने धैर्य के साथ पारी को आगे बढ़ाया. मैं जानता था कि संयमित रह कर ही इस विकेट पर बल्लेबाजी की जा सकती है. मैं खुश हूं कि मैं अंत तक विकेट पर टिका रहा, शतक बनाया और हमारी टीम ने जीत भी हासिल की.

Related Posts: