05modiनयी दिल्ली, 05 जून. भारत और नीदरलैंड ने द्विपक्षीय संबंधों को नयी ऊंचाई पर ले जाने के क्रम में आज आतंकवाद से निपटने के लिए संयुक्त कार्य समूह गठित करने और रक्षा, समुद्री सुरक्षा और साइबर सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने का फैसला किया है।

नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट के साथ बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त प्रेस वक्तव्य में कहा कि दोनों देश इतिहास और साझा मूल्यों से एकदूसरे से जुड़े हैं। आतंकवाद पर हमारी समान चिंता है और दोनों दुनिया को सुरक्षित बनाना चाहते हैं। दोनों देश आतंकवाद से निपटने के लिए एक संयुक्त कार्य समूह गठित करने पर सहमत हुए हैं जिसकी पहली बैठक 19 जून को होगी। श्री मोदी ने कहा कि रक्षा, समुद्री सुरक्षा और साइबर सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में द्विपक्षीय और बहुपक्षीय सहयोग बढ़ाने पर भी सहमति हुई है।उन्होंने बताया कि नीदरलैंड के प्रधानमंत्री ने रक्षा क्षेत्र समेत मेक इन इंडिया मिशन के लिए सहयोग की इच्छा जताई है। कोच्चि शिपयार्ड के संबंध में हुए समझौते से भारत में शिपयार्ड के विकास में मदद मिलेगी।इसी तरह खसरे और रुबेला के टीके भारत में बनाने और उनकी प्रौद्योगिकी हस्तांतरण से भारत में विनिर्माण क्षेत्र को विकसित करने तथा स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने में सहायता मिलेगी।

मोदी ने डच में और रुट ने हिंदी में किया ट्वीट
श्री मोदी ने डच भाषा में और श्री रुट ने हिंदी में ट्वीट करके एक दूसरे के प्रति गर्मजोशी दिखायी। श्री मोदी ने कहा, भारत में आपका स्वागत है। आपकी यह यात्रा भारत और नीदरलैंड के बीच मजबूत संबंधों की नींव रखेगी। मुझे आपसे मिलने का इंतजार है। श्री रुट ने ट्वीट किया, नमस्ते भारत। मैं आपके सुंदर और जीवंत देश में आकर बहुत खुश हूं। अपनी यात्रा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भेंट को लेकर उत्साहित हूं।

 

Related Posts: