कुल जीते 66 पदक, कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 का रंगारंग समापन

  • अंतिम दिन रविवार को साइना ने जीता गोल्ड
  • याद रहेगा भारतीय खिलाडिय़ों का स्वर्णिम सफर
  • 20 सिल्वर, 20 ब्रांज भी मिले निशानेबाजों का रहा दबदबा

नई दिल्ली,

ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का स्वर्णिम सफर समाप्त हो गया है. भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में कुल 66 पदक जीते. भारत ने 26 गोल्ड, 20 सिल्वर और 20 ब्रॉन्ज पदक जीते.

66 पदकों के साथ भारत पदक तालिका में तीसरे स्थान पर रहा. 2014 के ग्लास्गो में हुए राष्ट्रमंडल खेलों से भारत की तुलना करें तो भारत ने उस वक्त 64 पदक जीते थे. इस बार भारत ने पिछली बार से बेहतर प्रदर्सन किया है. इस बार भारत ने 15 खेलों में हिस्सा और 9 में मेडल जीते.

भारत ने 2010 में दिल्ली कॉमनवेल्थ खेलों में कुल 101 पदक जीते थे. वहीं 2002 के मैनचेस्टर खेलों में कुल 69 मेडल मिले थे. भारतीय एथलीटो ने हर खेल में बेहतर प्रदर्शन किया और हर खिलाड़ी ने देश के लिए मेडल जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी. आइए एक-एक करके उन सभी खेलों की बात करते हैं जिसमें भारत मेडल जीता है.

सबसे पहले बात शूटिंग की करते है. टेबल टेनिस में भी भारत की महिला और पुरुष टीम ने गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया. वही महिला एकल में मणिका बत्रा ने गोल्ड मेडल जीता. पुरुष युगल और महिला युगल मुकाबलों में भारत को सिल्वर मेडल मिला.

भारतीय खिलाडिय़ों ने जहा दिखाया कि हम वजन उठा भी सकते हैं और अच्छे-अच्छे वजनदार खिलाडिय़ों को पटक भी सकते हैं. रेसलिंग में भारत ने 5 गोल्ड, तीन सिल्वर और चार ब्रॉन्ज समेत कुल 12 मेडल अपने नाम किए. इस साल जो खिलाड़ी कुश्ती में भारत के हीरों रहे उनके नाम है बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक, सुमित.

भारत के लिए शूटिंग इवेंट काफी अच्छा रहा. शूटिंग में इस बार भारतीय निशानेबाजों ने 7 गोल्ड समेत कुल 16 मेडल जीते. अनीश भानवाला, मेहुली घोष और मनु भाकर जैसे युवा निशानेबाजों के अलावा हीना सिद्धू, जीतू राय और तेजस्विनी सावंत जैसी अनुभवी निशानेबाजों ने भी भारत के लिए पदक जीते. इसके अलावा वेटलिफ्टिंग में भारतीय खिलाडिय़ों ने देश का नाम रोशन करते हुए कुल 9 पदक जीते.वेटलिफ्टिंग में भारत ने पांच गोल्ड, दो सिल्वर और दो ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं. इस बार वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू, संजीता चानू और पूनम यादव ने भारत को गोल्ड दिलाया.

Related Posts: