bruceवॉशिंगटन,  व्हाइट हाउस के पूर्व टॉप आफीसर ने कहा है कि पठानकोट में एयरबेस पर आतंकी हमले के पीछे पाकिस्तान की ताकतवर खुफिया एजेंसी आईएसआई है. व्हाइट हाउस में नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल के लिए काम कर चुके ब्रूस रिडल 1999 में करगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की बैठक के दौरान मौजूद थे.

उन्होंने कहा कि यह हमला इंडिया और पाकिस्तान के बीच अमन को रोकने के लिए है. एयर फोर्स के बेस पर और उत्तरी अफगानिस्तान के मजार-ए-शरीफ में भारतीय वाणिज्य दूतावास पर हमले पाकिस्तानी आंतकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने किए हैं.