प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की सेेशल्स और मारीशस शासकीय यात्रा ने भारत की हिन्द महासागर क्षेत्र में अपनी उपस्थिति बढ़ा दी है. राजनीतिक संबंधों को गति देने के लिये भारत ने यहां दो द्वीप बनाने का फैसला किया है, जहां आधारभूत विकास अधिकार के अंतर्गत भारत को अधिकार हासिल हुआ है.

श्री मोदी ने दो देशों के साथ ज्वाइंट वर्किंग ग्रुप बनाने की पेशकश की है और इसी के तहत भारत इन द्वीपों को विकसित करेगा. चीन भी श्रीलंका, मारीशस व सेशल्स में अपनी दिलचस्पी दिखा रहा है. श्री मोदी की इस यात्रा से भारत की सक्रियता काफी तेज और आगे बढ़ गयी है. इस यात्रा में मारीशस के साथ समुद्र विकास के बारे में कई अहम करार हुए हैं. श्री मोदी ने मारीशस की संसद को भी संबोधित करते हुए कहा कि मारीशस का भारत पर पूरा अधिकार है और दोनों देश भविष्य में साथ-साथ विकास पथ पर चलेंगे. भारत के साथ 5 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं.

काला धन रोकने के लिये दोनों देश मिलकर काम करने को सहमत हो गये हैं और दोहरे कराधान को रोकने के लिये आगे की वार्ता के लिये भी तैयार हो गये हैं. भारत मारीशस को 3100 करोड़ डालर का कर्ज देगा और वहां बुनियादी ढांचा परियोजनाओं पर काम करेगा. भारत ने मारीशस को हिन्द महासागर में पेट्रोल ड्यूटी के लिये एक युद्ध स्तरीय जहाज बनाकर दिया है. इसके साथ ही भारत उस दौर में पहुंच गया जो देश समुद्री जहाजों का निर्माण करते हैं. भारत में निर्मित जहाज बाराकूडा मारीशस की नौसेना को सौंपा गया है. इस पर रेपिड फायर बन्दूकें लगी हैं.

सोमालिया और यमन के अरबी समुद्रों द्वारा समुद्री डकैती (पायरेसी) बहुत बढ़ गयी है और उन्हें दबाने में आपस में समझौते किये गये हैं.
भारत के कुछ लोग मारीशस के बैंकों में भी अपना काला धन रखते हैं. मारीशस की संसद में श्री मोदी ने ‘आफ शोरÓ बैंकिंग सेक्टर में भी विकास व सहयोग को भी रेखांकित किया गया है. हम दोनों देश प्रजातंत्रीय देश हैं. चीन द्वारा दक्षिण चीन सागर क्षेत्र में बढ़ती दखलंदाजी के बारे में भारत ने कहा है कि अंतरराष्टï्रीय कानूनों के तहत ही काम होना चाहिए. मारीशस से श्री मोदी ने चीन को संकेत दे दिया है. हिन्द महासागर क्षेत्र में पैर जमाने की चीन की कोशिशों के बीच श्री मोदी ने कहा है कि इस क्षेत्र में शांति, स्थिरता और समृद्धि लाना यहां के रहने वालों की पहली प्राथमिकता है. लेकिन दुनिया में कुछ ऐसे देश भी हैं जिनके हित इस क्षेत्र में दांव पर लगे हुए हैं.

Related Posts: