mp3बैतूल,  प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को जिले के भीमपुर में शबरी माता महोत्सव अंतर्गत आयोजित वनाधिकार सम्मेलन एवं अंत्योदय मेला में 3195 हितग्राहियों को वनाधिकार पत्रों का वितरण किया।
इस दौरान उन्होंने जिले के 7556 हितग्राहियों को आवास पट्टे भी वितरित किए।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने भीमपुर को पूर्णकालिक तहसील का दर्जा देने की घोषणा की। साथ ही झल्लार को टप्पा तहसील बनाने का भी ऐलान किया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने 30 करोड़ 66 लाख की लागत वाले 20 कार्यों का उद्घाटन एवं 103 करोड़ 62 लाख रूपए की लागत वाले 39 कार्यों का भूमिपूजन भी किया।

इस कार्यक्रम में प्रदेश के राजस्व मंत्री रामपाल सिंह, सांसद श्रीमती ज्योति धुर्वे, विधायक भैंसदेही महेन्द्र सिंह चौहान, विधायक घोड़ाडोंगरी मंगलसिंह धुर्वे, विधायक आमला चैतराम मानेकर, विधायक मुलताई चन्द्रशेखर देशमुख एवं विधायक बैतूल श्री हेमन्त खण्डेलवाल, जिला योजना समिति सदस्य जितेन्द्र कपूर सहित जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश में कोई भी व्यक्ति अब आवासहीन नहीं रहेगा। सरकार पात्र व्यक्तियों को आवास पट्टा उपलब्ध करवा रही है। साथ ही उनके मकान की भी व्यवस्था कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार आदिवासी क्षेत्रों के विकास के लिए भी पुरजोर प्रयास कर रही है। इन क्षेत्रों में भी सतत् विकास के कार्य जारी हैं। उन्होंने कहा कि आदिवासी बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए सरकार पूरी सहूलियतें दे रही है।

सरकार का प्रयास है कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे एवं उसके विकास में धन की कमी आड़े न आए। जो बच्चे आगे पढ़ेंगे, उनके लिए सरकार कम्प्यूटर, लेपटॉप से लेकर शुल्क वहन तक की अनेक जवाबदारियां उठाएंगी। मुख्यमंत्री ने इस दौरान बच्चों को पढ़ाने, बेटी बचाने, पानी बचाने एवं बिजली का किफायती उपयोग करने की उपस्थित जनसमुदाय से अपील की।

इस दौरान उन्होंने विधायक भैंसदेही की मांग पर भीमपुर में महाविद्यालय प्रारंभ किए जाने की भी घोषणा की और कहा कि इस महाविद्यालय में कला, विज्ञान एवं वाणिज्य तीनों संकाय प्रारंभ किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने इस दौरान आदिवासी क्षेत्र की महिलाओं को मुर्गीपालन एवं रेशम पालन जैसे रोजगार से जुडऩे के लिए हरसंभव मदद दिए जाने की बात कहते हुए किसानों से भी कहा कि वे अपनी फसल का बीमा अवश्य कराएं। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके द्वारा पूर्व में की गई घोषणाओं पर शत्-प्रतिशत् अमल किया जा रहा है।

 

Related Posts:

चार आयुर्वेद कॉलेजों में पी.जी. कोर्स की तैयारियाँ शुरू
किसानों की होगी हरसंभव मदद, मुख्यमंत्री ने की नुकसान की समीक्षा, सर्वे के दिए नि...
पारदी गुट मेें खूनी संघर्ष, दो की मौत
देश ने युगदृष्टा खोया : शिवराज
ऊर्जा मंत्री शुक्ल ने किया वेबसाइट का लोकार्पण
ईश्वरीय योजना के तहत पीएम बने हैं मोदी, उनके नेतृत्व में ही 21वीं सदी होगी भारत ...