नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने लगाया आरोप

भोपाल,

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा की कर्मचारियों को स्वत्वों के दो हजार करोड़ के भुगतान से बचने के लिए सरकार ने कर्मचारियों को गुमराह करने आयु सीमा बढ़ाने की घोषणा की है.

सिंह ने कहा की सरकार ढाई करोड़ बेरोजगार युवाओं की आवाज को सुने और नौकरी लगने तक उन्हें 2000 रुपये तक का बेरोजगारी भत्ते देने की भी घोषणा करे. नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि कर्मचारी हितों का संरक्षण करने का दायित्व तो राज्य सरकार का है ही लेकिन प्रदेश के युवाओं को शिक्षित होने के बाद रोजगार मिले इसकी भी सुनिश्चित व्यवस्था सरकार को करना चाहिए.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा की प्रदेश के पांच में लगभग 2 लाख ऐसे कर्मचारी है जो पूर्व में ही 62 वर्ष में सेवानिवृत्त होते हैं. इसके साथ ही सरकार ने कर्मचारियों की आयु सीमा बढ़ाकर अपने उपर आ रहे आर्थिक अधिभार से बचने का प्रयास किया है.

सिंह ने कहा की मुख्यमंत्री कर्मचारी हितैषी होते तो आज प्रदेश के हर स्तर का कर्मचारी सडक़ों पर आंदोलन नहीं कर रहा होता. सिंह ने कहा औसतन एक वित्तीय वर्ष में 20 हजार कर्मचारी सेवानिवृत्त होते हैं. इन्हें औसतन अगर दस लाख रुपये को

स्वत्वों का भुगतान करना पड़ा तो लगभग 20 हजार करोड़ की आवश्यकता होगी.नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए सरकार ने पिछले 12 साल में कोई ठोस कदम नहीं उठाया.