लखनऊ,

मेजबान भारत ने पांचवीं दक्षिण एशियाई महिला हैण्डबॉल चैंपियनशिप के तीसरे दिन सोमवार को भूटान को चार के मुकाबले 17 गोलों से रौंदते हुये अपना विजय अभियान जारी रखा।

मेजबान टीम ने अब तक दो मैचों में दो जीत के साथ चार अंक जुटाए है।नेपाल की टीम ने भले ही सोमवार को दो जीत दर्ज की लेकिन पहले दिन भारत के हाथों हुई हार के चलते वह तीन मैचों से केवल चार अंक ही जुटा सकी है।

इसी तरह अफगानिस्तान के खाते में भी तीन मैचों में एक जीत से दो ही अंक है।बंगलादेश की टीम के भी तीन मैचों में दो जीत से चार ही अंक है।भूटान की टीम इस चैंपियनशिप में फिसड्डी साबित हुई है और वह अपने तीनों मैच गंवाते हुए सबसे निचले पायदान पर है।

भारत को चैंपियनशिप के अंतिम चौथे दिन मंगलवार को दो मैच अफगानिस्तान और बंगलादेश के खिलाफ खेलने है लेकिन जिस योजनाबद्ध और एकजुटता के साथ टीम का प्रदर्शन हो रहा है उसके चलते भारत का चैंपियन बनना लगभग तय है।

केडी सिंह बाबू स्टेडियम में खेली जा रही चार दिवसीय चैंपियनशिप के तीसरे दिन भारतीय लड़कियों ने एक बार फिर जोरदार खेल का प्रदर्शन करते हुए भूटान की टीम को चार के मुकाबले 17 गोलों से पराजित कर दिया।हॉफ टाइम तक तो भारतीय लड़कियां मैच पर इस कदर हावी थी कि उन्होंने जहां दस गोल कर डाले थे, वहीं भूटान की लड़कियां अपना खाता भी नहीं खोल पाई थी।

भारतीय टीम की विजय में ज्योति शुक्ला ने सर्वाधिक चार गोल दागते हुए अहम भूमिका निभाई।सृष्टि ने तीन गोल और वनीता ने दो गोल करते हुए मैच को पूरी तरह एकतरफा बना दिया।भूटान के लिए तीन गोल अंजना मल्ला ने किए।

नेपाल बनाम बंगलादेश के मध्य मैच थोड़ा संघर्षपूर्ण नजर आया।हॉफ टाइम तक नेपाल की टीम 12-6 से आगे थी लेकिन जब मैच खत्म होने की विसिल बजी तो वह 17 के मुकाबले 26 गोल दर्ज करने में सफल रही।नेपाल की विजय में वंदना राय ने सर्वाधिक 13 गोलों का योगदान किया।वहीं शांतिकला ने पांच और निशा राय ने चार गोल किए।

इससे पहले सुबह के सत्र में बंगलादेश ने अफगानिस्तान को 35-9 गोल से पराजित किया।चैंपियनशिप में कल मैच गंवाने वाली अफगानिस्तान इस मैच में शुरू से दबाव में आई तो फिर उबर नहीं सकी।बांग्लादेश से सूमी बेगम ने टीम के लिए सर्वाधिक नौ गोल दागे।वहीं रूबीना बेगम ने उनका साथ देते हुए आठ गोल मारे।डालिया अख्तर ने चार गोल किए।इन खिलाड़ियों के उम्दा प्रदर्शन से बंगलादेश ने हॉफ टाइम तक 17-4 गोल की बढ़त बना ली थी।

Related Posts: