shivsenaमुंबई, 1 सितंबर. भूमि अधिग्रहण अध्यादेश को फिर से लागू नहीं करने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए राजग के घटक दल शिवसेना ने मंगलवार को इसे किसानों की जीत बताया और कहा यदि यह विधेयक पारित हो जाता तो इससे उद्योगपतियों को किसानों की उपजाऊ जमीन का कारोबार करने का ‘थोक’ लाइसेंस मिल जाता।

इससे पहले तीन बार भूमि अध्यादेश लागू किये जाने को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को घोषणा की थी कि चौथी बार अध्यादेश लागू नहीं किया जाएगा। संपादकीय के अनुसार शिवसेना और अकाली दल सरीखे राजग के घटक दलों ने भी विधेयक का विरोध किया था और केवल विपक्षी दल ही इसके खिलाफ नहीं थे।

Related Posts: