herbal_fairभोपाल,  मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पांच दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय वन मेला कल से शुरू हो रही है और इस मेले से प्रदेश की लघु वन उपजों के प्रदर्शन के साथ उनके विपणन के लिए एक सार्थक मंच मिलता है।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार यह मेला लाल परेड मैदान में लगाया जा रहा है। वन विभाग और राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ द्वारा लगाया जाने वाला मेला इस साल ‘मानव कल्याण के लिये लघु वनोपज’ पर केन्द्रित है। मेले में हर्बल उत्पादों के स्टॉल्स के अलावा विभिन्न शासकीय विभाग की प्रदर्शनियाँ, आयुर्वेद के अनुभवी चिकित्सकों द्वारा नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण एवं परामर्श, व्यंजनों का फूड कोर्ट इत्यादि व्यवस्थाएँ रहेंगी।

मेले में लगभग 300 स्टॉल्स होंगे। मध्यप्रदेश के अलावा महाराष्ट्र, बिहार, असम, उत्तराखण्ड, दिल्ली, छत्तीसगढ़ इत्यादि राज्यों के प्रतिभागी हिस्सा लेने की सहमति दी गयी है। इसके अलावा श्रीलंका, भूटान, नेपाल, बाँगलादेश जैसे पड़ोसी राष्ट्रों के प्रतिनिधि भी भाग लेंगे। मेले में 12 दिसम्बर को तकनीकी कार्यशाला तथा 13 दिसम्बर को लघु वनोपज केन्द्रित अनुभवों के आदान-प्रदान का सत्र होगा। अगले दिन 14 दिसम्बर की सुबह लघु वनोपज क्रेताओं एवं विक्रेताओं का सम्मेलन भी एक प्रमुख आकर्षण रहेगा।

मेले से लघु वनोपजों के संग्राहक, विपणनकर्ता, प्र-संस्करणकर्ता आदि विभिन्न भागीदारों को एक दूसरे को जानने में एवं व्यापार को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। मेले में प्रतिदिन अपरान्ह में विभिन्न प्रतियोगिताएँ होंगी, जिनमें शालेय एवं महाविद्यालय के विद्यार्थी भाग लेंगे। इसके अलावा 12 दिसम्बर से हर शाम सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे।

Related Posts: