bpl4

प्रबंधन की लापरवाही से हुआ हादसा, एफआईआर दर्ज, 

भोपाल,  ग्यारह मील स्थित ज्ञान गंगा ऐकेडमी के स्वीमिंग पूल में डूबने से दो मासूम बच्चों की मौत हो गई. दोनों बच्चे खेलते-खेलते पानी में गिर गए थे. घटना के समय स्वीमिंग पूल के आसपास गार्ड मौजूद नहीं था. पुलिस ने ज्ञानगंगा प्रबंधन के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज कर लिया है.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पवन कुश्वाह और शंकर कुश्वाह दोनों भाई हैं. यह दोनों ज्ञानगंगा स्कूल में ड्रायवर की नौकरी पर कार्यरत हैं और स्कूल परिसर में अपने परिवारों के साथ रहते है. शुक्रवार सुबह इन दोंनों के बच्चे रिया चार साल की और प्रमोद 3 साल का खेलते-खेलते स्वीमंग पूल केंपस का गेट खुला देखकर पूल के आसपास खेलने लगे. इसी दौरान दोनों पानी में गिरकर डूब गए. घटना के समय पूल केंपस में कोई भी गार्ड या कर्मचारी मौजूद नहीं था. परिजनों के मुताबिक स्कूल परिसर काफी फैला हुए इलाके में है तो बच्चे अक्सर खेल के दौरान इधर-उधर हो जाया करते थे.

शुक्रवार को भी ऐसा ही हुआ. काफी देर तक बच्चों के नजर नही आने के बाद परिजन बच्चों को ढूंडते हुए स्वीमिंग पूल के पास पहुंचे तो उनकी आखें फटी की फटी रह गई. दोनों मासूमों के शव पानी की सतह पर तैर रहे थे. आनन-फानन में दोनों शवों को पानी से निकालकर अस्पताल पहुचायो गया. जहां डॉक्टर ने बताया की इन दोनों की पानी में डूबने से काफी देर पहले मौत हो चुकी है. मिसरोद एसआ ओपी सिंह राजपूत के मुताबिक अस्पताल से इन दोनों की मौत की सूचना मिली थी. मौके पर पहुंचकर दोनों बच्चों के शवों को अस्पताल से बरामद कर पीएम के लिए भेज दिया गया है. दो भाईयों के दो बच्चों की मौत के बाद पूरे केंपस में मातम का माहौल छा गया. वही इस घटना के बाद प्रबंधन भी खामोश है. मिसरोद टीआई कुंवर सिंह मुकाती के मुताबिक स्वीमंग पूल केंपस का गेट खुला होना, केंपस में किसी गार्ड या कर्मचारी का मौजूद नही होना प्रबंधन की घौर लापरवाही दर्शाता है. इसलिए पुलिस ने प्रबंधन के खिलाफ अपराधिक प्रकरण दर्ज कर लिया है.

Related Posts: