SMRITI1भोपाल,  मध्यप्रदेश में द्वितीय अतंर्राष्ट्रीय योग दिवस पर आज सुबह केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने भोपाल में राज्य स्तरीय सामूहिक योग कार्यक्रम में लगभग 10 हजार विद्यार्थी और नागरिकों के साथ योग किया।

कार्यक्रम के दौरान लाखों नागरिकों ने एक साथ-एक संकेत पर सामूहिक योग का प्रदर्शन किया। योग-अभ्यास का कार्यक्रम सभी जिलों, ब्लॉक, तहसील और पंचायत स्तर पर किया गया था। मुख्य कार्यक्रम में गृह एवं जेल मंत्री बाबूलाल गौर, सांसद आलोक संजर, महापौर आलोक शर्मा, विधायक विश्वास सारंग और रामेश्वर शर्मा तथा मुख्य सचिव अंटोनी डिसा भी मौजूद थे। जिला मुख्यालयों पर हुए योग प्रदर्शन के कार्यक्रम में मंत्रीगण और अन्य जन-प्रतिनिधि शामिल हुए।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार राज्य स्तरीय योग कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सुबह से ही स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों का लाल परेड मैदान पर पहुँचना शुरू हो गया था। पूरे मैदान पर उनके बैठने और योग के अभ्यास के लिए व्यवस्था की गई थी। योग करवाने के लिए स्कूलों के प्रशिक्षित शिक्षकों सहित पतजंलि, आर्ट ऑफ लिविंग और गायत्री परिवार के प्रशिक्षक भी उपस्थित थे। योग कार्यक्रम में एन.सी.सी. और स्काउट एवं गाइड से जुड़े विद्यार्थियों ने भी बड़ी संख्या में हिस्सा लिया।

कार्यक्रम में अतिथियों के पहुँचने के बाद सबसे पहले बड़ी स्क्रीन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्रीपाद नाईक और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संदेश का प्रसारण दिखाया गया। प्रधानमंत्री ने आशा व्यक्त की कि भविष्य में पूरा विश्व योग से जुड़ेगा। श्रीमती स्वराज ने कहा कि योग केवल व्यायाम ही नहीं बल्कि व्यक्ति को तनावरहित भी बनाता है। श्री नाईक ने जीवन में योग की महत्ता बताई और इसे लोगों से अपनाने को कहा।

मध्यप्रदेश गान के बाद मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशवासियों को योग दिवस की शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि योग शरीर, मन और आत्मा के बीच अंर्तसंबंध स्थापित करता है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री मोदी को धन्यवाद दिया जिनके प्रयासों से संयुक्त राष्ट्र संघ ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का निर्णय लिया। श्री चौहान ने अपने संदेश में कहा कि योग सामान्य जीवन शरीर को स्वस्थ रखता है। आध्यात्मिक शांति के लिए योग वैज्ञानिक उपाय है, जिसका लाभ सभी आयु वालों को उठाना चाहिए। मुख्यमंत्री के अनुसार योग से ऊर्जा एवं क्षमता में वृद्धि होती है। उन्होंने स्वस्थ एवं प्रसन्न रहने के लिए नागरिकों से योग को अपनाने का आव्हान भी किया।

कार्यक्रम में सुबह 7 से 8 बजे तक सामूहिक याग अभ्यास किया गया। श्रीमती ईरानी ने जन-प्रतिनिधियों, अधिकारी-कर्मचारी, स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थी, स्वैच्छिक संस्थानों के पदाधिकारियों, सदस्यों और नागरिकों के साथ योग क्रियाएँ की। सामूहिक योग में पद्मासन, मत्स्यासन, भुजंगासन, धनुरासन, मकरासन, अर्धमत्स्येन्द्रासन किये गये। प्रत्येक आसन का स्क्रीन पर प्रदर्शन भी हुआ। कार्यक्रम का आयोजन स्कूल शिक्षा विभाग ने किया।

Related Posts: