Narendra Modiनयी दिल्ली, 16 अगस्त. एकता को देश की पूंजी बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सवा सौ करोड़ भारतवासियों की सरलता और भाईचारा राष्ट्र की ताकत है और हम हमारे समाज में जातिवाद के जहर और सम्प्रदायवाद के जुनून को पनपने नहीं देंगे।

मोदी ने 69वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में यह ऐलान करते हुए कहा, जातिवाद के जहर और सम्प्रदायवाद के जुनून की किसी भी रूप में कोई जगह नहीं होगी और न ही इसे पनपने दिया जायेगा। इसे विकास के अमृत से मिटाया जायेगा। प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम अपने दूसरे संबोधन में कहा कि देशवासियों की च्टीम इंडियाज् भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकेगी और 2022 तक यानी देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस तक भारत को विकसित राष्ट्रों की श्रेणी में ला खड़ा करेंगे। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को जारी रखने की बात करते हुए उन्होंने कहा कि 15 महीने की उनकी सरकार पर अब तक एक नए पैसे के भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा है। उन्होंने कहा, आप लोगों ने जिस काम के लिए मुझे बिठाया है, मैं हर जुल्म सहता रहूंगा, अवरोध सहता रहूंगा लेकिन भ्रष्टाचार मुक्त भारत के सपने को साकार करके रहूंगा।

Related Posts: