हम्मालों के हित में राज्य शासन के मंडी बोर्ड ने एक आदेश जारी किया है कि 50 किलो के बारदानों में हम्मालों द्वारा काम करने एवं इससे ज्यादा वजन न उठाने के संबंध में है. लेकिन व्यापारियों ने इसे अभी तक लागू नहीं किया है जबकि आदेश कुछ महीनों पहले जारी किया था.

अब हम्मालों ने यह कदम उठाया है कि वे तभी हम्माली का काम करेंगे जब इस आदेश के परिपालन में 50 किलो की ही बोरी बने. दूसरे प्रदेशों में भी 50 किलो की बोरी बनायी जा रही है.

इसकी वजह से मंडियों में नीलामी रुक गयी है और वे किसान परेशान हो रहे हैं जो मंडियों में अपना गेहूं, सोयाबीन व अन्य उपजों को लेकर आ चुके हैं. जब तक हम्माल-व्यापारी टकराव खत्म नहीं होता तब तक किसानों को रुकना होगा.

व्यापारियों का कहना है कि इस आदेश से पहले उन्होंने जो प्रचलित बारदाने खरीद रखे हैं वे 90 किलो वाले हैं उनका क्या होगा. हम्मालों का कहना है कि इसमें कोई समस्या नहीं है इन बड़े बोरों में भी आदेश के अनुसार 50 किलो ही भरा जाए.

Related Posts: