222 पेड़ हुए जमींदोज

नवभारत न्यूज खंडवा-बुरहानपुर,

सडक़ों का जाल बिछाकर रुपया कमाने की होड़ में बैतूल की आरएसके कम्पनी खुलेआम खंडवा और बुरहानपुर जिलो में हरे पेड़ काट रही है। यह पेड़ दो मंत्री विजय शाह और अर्चना चिटनिस के क्षेत्र में कटे हैं।

नेपानगर के तहसीलदार ने तो मेसर्स राजेन्द्रसिंग किलेदार कंस्ट्रकशन को 222 पेड़ काटने के खिलाफ नोटिस भी दे दिया है,पता नहीं किसकी शह पर राजेन्द्रसिंह किलेदार एंड कम्पनी ने जघन्य काम कर दिया।

सवाल यह उठा है की किलेदार दो-दो जिलों के कलेक्टर एसपी और खंडवा सीसीएफ तक से क्यों नहीं डर रहे हैं, यह भी चर्चा में है की तहसीलदार नेपानगर के नोटिस पर भी इन्होने गौर नहीं किया और वरिष्ठ नेतावों से दबाव डलवा दिया।

नेपानगर तहसीलदार ने 1 जनवरी 2018 को नोटिस राजेन्द्रसिंह किलेदार के नाम भेजा था की उनके द्वारा बुरहानपुर से नसीराबाद रतागढ़ बोर्सल और निमना के रस्ते का निर्माण किया जा रहा है। इस रस्ते के निर्माण में ग्राम रतागढ़ निमना और बोर्साल के बीच करीब 222 वृक्ष जद समेत उखाड़ दिए गए।

नोटिस में यह भी साफ लिखा गया है की मेसर्स राजेन्द्रसिंह किलेदार कंस्ट्रकशन यानी आरएसके द्वारा सक्षम अनुमति या सक्षम अधिकारी की अनुमति के बिना ही यह वृक्ष कटवा दिए गये है। यदि इनके द्वारा कोई अनुमति अगर ली गई है तो इसका जवाब तहसील कार्यालय में दें लेकिन तारीख निकलने को भी लंबा समय हो गया। कम्पनी ने भी ढुलमुल रवैया अपनाया और इसमें भी कोई कारवाई नहीं होने की खबर है।

Related Posts: