बयान दर्ज कराने के लिए जारी किया गया नोटिस

  • प्रीति आत्महत्या मामला

भोपाल,

प्रीति रघुवंशी आत्महत्या मामले में पुलिस ने लोक निर्माण विभाग मंत्री रामपाल सिंह राजपूत के बेटे गिरजेश राजपूत को नोटिस जारी किया है. पुलिस ने उन्हें बयान दर्ज कराने के लिए उपस्थित होने का नोटिस भेजा है.

पुलिस इस मामले में अब तक प्रीति के पिता और भाई के बयान दर्ज कर चुकी है. घटना के बाद से परिजन लगातार मंत्री और उनके बेटे के विरूद्ध मामला दर्ज कराने की मांग कर रहे हैं, लेकिन अभी तक मंत्री और उसके बेटे समेत किसी पर मामला दर्ज नहीं किया गया है.

आईजी लॉ एंड ऑर्डर मकरंद देउस्कर ने बताया कि मामले की जांच रायसेन पुलिस कर रही है. मामले में गिरजेश सिंह को बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस भेजा गया है. इसके साथ ही मंत्री और उनके बेटे से जुड़े कुछ और लोगों को भी बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस भेजा गया है.

वहीं पुलिस की अब तक की कार्रवाई से प्रीति के परिजन संतुष्ट नहीं है. पिता चंदन सिंह ने आरोप लगाया था कि ढाई तक चली पूछताछ में एक भी सवाल लोक निर्माण विभाग मंत्री रामपाल सिंह राजपूत और उनके बेटे गिरजेश सिंह राजपूत के बारे में नहीं पूछा गया. गौरतलब है कि प्रीति रघुवंशी ने 17 मार्च को सुसाइड कर लिया था.

Related Posts: