world_bankवाशिंगटन,  वैश्विक अर्थव्यवस्था की सुस्त रफ्तार के बीच मजबूत निवेशधारण और कच्चे तेल की कीमतों में जारी गिरावट के बल पर भारत की आर्थिक विकास दर अगले तीन साल तक पूरी दुनिया के लिए आकर्षण का केंद्र बनी रहेगी।

विश्व बैंक की जारी छमाही रिपोर्ट ‘वैश्विक आर्थिक परिदृश्य’ में चालू वर्ष के वैश्विक विकास अनुमान को 3.3 फीसदी के पूर्वानुमान के मुकाबले घटाकर 2.9 फीसदी रहने की बात गयी है।

वर्ष 2015 में वैश्विक विकास दर 2.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया है।

Related Posts: