कन्नौज,  समाजवादी पार्टी (सपा) को उसके गढ में ललकारते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि गरीब,मजदूर और किसान की अनदेखी कर उत्तर प्रदेश सरकार ने समाजवाद की परिभाषा ही बदल दी है।

इत्रनगरी कन्नौज के गुरसहायगंज में स्थित सेना ग्राउंड में परिवर्तन संकल्प महारैली को संबोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि समाजवाद की पैरवी और गरीबी हटाओ का नारा देने वालों की बातें खोखली साबित हुयी है। सूबे की अखिलेश सरकार गरीब विरोधी है। यह सरकार गांव,गरीब,किसान,युवा,दलित और शाेषित वर्ग के लिये कभी समर्पित नही रही।

गरीबों का पेट भरने के लिये केन्द्र सरकार खाद्यान्न सुरक्षा योजना के तहत धन आवंटित करती है। केन्द्र ने अखिलेश सरकार को गरीबों की सूची भेजने को कहा था मगर उसकी सूची अब तक नही बन सकी। इस कारण 50 हजार गरीबों के लिये आवंटित 750 करोड रूपये अभी भी केन्द्र के पास रखे हैं। यहां तक कि अनाथाश्रम जैसी सामाजिक संस्थाओं के लिये केन्द्र द्वारा भेजे गयी धनराशि का भी उपयोग नही हो सका। इसका एकमात्र कारण यही रहा होगा कि सूबे में गरीबों के धन का उपयोग करने के लिये बिचौलिये नही मिले।

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री होने के बावजूद उनके पास अपनी निजी कार नही है जबकि समाजवाद का ढोल पीटने वाले कई नेताओं के पास मंहगी कारों का काफिला है। यह कौन सा समाजवाद है।

Related Posts: