talgoनयी दिल्ली/मथुरा,   स्पेन से आयी सेमीहाईस्पीड टैल्गो ट्रेन सेट का दूसरे चरण का परीक्षण आज से मथुरा और पलवल के बीच शुरू हो गया और गाड़ी 120 किलाेमीटर प्रतिघंटा की गति से सफलतापूर्वक दौड़ी। उत्तर मध्य रेलवे के आगरा मंडल के अंतर्गत मथुरा से दोपहर 12:45 बजे यह गाड़ी रवाना हुई और 110 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल कर 84 किलोमीटर दूर पलवल स्टेशन पर 13:35 बजे पहुँची और फिर वहां से वापस लौटी।

गाड़ी से दूसरा चक्कर 120-130 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से लगाया। रेलवे बोर्ड के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने यूनीवार्ता को बताया कि इस खंड पर टैल्गो ट्रेन के नौ कोचों वाले इस रैक के परिचालन परीक्षण इस पूरे माह चलेंगे और गाड़ी को 180 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से चलाकर देखा जायेगा। गाड़ी का परीक्षण खाली एवं भार सहित दोनों परिस्थितियों में किया जायेगा। इन सभी परिस्थितियों में गाड़ी में कंपन आदि भी मापा जा रहा है।

श्री सक्सेना ने बताया कि गाड़ी को 4500 अश्वशक्ति वाले डीज़ल इंजन डब्ल्यूडीपी-4 से चलाया गया जो 200 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से गाड़ी खींचने में सक्षम है। उन्होंने बताया कि मथुरा में इस माैके पर स्पेन से आये टैल्गो के इंजीनियराें के एक दल के साथ उत्तर मध्य रेलवे एवं आगरा मंडल, रेलवे बोर्ड और रेलवे के लखनऊ स्थित रेल अभिकल्प एवं मानक संगठन (आरडीएसओ) के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

गाड़ी में टैल्गो के इंजीनियर, रेलवे बोर्ड में कार्यकारी निदेशक (मैकेेनिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर) विजय कुमार और आरडीएसओ में निदेशक (परीक्षण) नीरज श्रीवास्तव सवार थे। इससे पहले पहले चरण में इस गाड़ी का उत्तर प्रदेश में बरेली से मुरादाबाद और सहारनपुर के बीच पहला परिचालन परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा हो चुका है। तीसरे एवं अंतिम चरण के परीक्षण में दिल्ली से मुंबई के बीच 195 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार तक चलाकर देखा जायेगा। यह परीक्षण करीब 15 दिन तक किया जायेगा।