mathuraमथुरा,  धार्मिक नगरी मथुरा के जवाहरबाग की हिंसक घटना में मारे गये पुलिस अधीक्षक (नगर) मुकुल द्विवेदी के शोकाकुल छोटे भाई ने चेतावनी दी है कि मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराये जाने की मांग को लेकर वह धरने पर बैठ सकते हैं।

घटना में दो पुलिस अधिकारियों के शहादत के साथ ही कुल 29 लोग मारे गये थे। विपक्ष भी इस घटना की जांच सीबीआई से कराने की लगातार मांग कर रहा है। विपक्ष के साथ दिवंगत श्री द्विवेदी के परिजनों के भी इस मांग में शामिल हो जाने से अब केन्द्रीय एजेन्सी से जांच कराये जाने का दबाव राज्य सरकार पर बढने लगा है।

हालांकि सीबीआई जांच के लिए उच्चतम न्यायालय के आज आये फैसले से राज्य सरकार को थोडी राहत महसूस हुई है। न्यायालय ने याचिकाकर्ताओं से पहले उच्चतम न्यायालय जाने के लिए कहा है।

श्री द्विवेदी के भाई प्रफुल्ल द्विवेदी के धरने पर बैठने की चेतावनी से प्रशासन एक बार फिर तनाव में नजर आ रहा है। प्रफुल्ल का कहना है कि जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को केवल हटा देना न्याय नहीं है। इस जघन्य घटना के पीछे किसका हाथ है, यह भी सामने आना चाहिए।

Related Posts: