pic3चेन्नई,  विवादों में घिरे मद्रास हाई कोर्ट के जस्टिस सीएस करनन ने सोमवार को कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट के दो जजों के खिलाफ दलित उत्पीडऩ निरोधक कानून के तहत स्नढ्ढक्र दर्ज करने का आदेश देंगे.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के दो जजों की बेंच ने उनका तबादला कलकत्ता हाई कोर्ट कर दिया था और न्यायिक कामकाज से उन्हें दूर रहने के लिए कहा था. जस्टिस करनन ने संवाददाताओं से कहा, केवल न्यायिक कामकाज का आवंटन रोका गया है.

मेरी न्यायिक शक्तियां अभी भी मेरे पास हैं. मैं स्वत: संज्ञान लेते हुए चेन्नई के पुलिस कमिश्नर को सुप्रीम कोर्ट के दोनों जजों के खिलाफ स्नढ्ढक्र दर्ज करने का आदेश जारी करूंगा. इससे पहले चीफ जस्टिस ने उनका तबादला मद्रास हाई कोर्ट से कलकत्ता उच्च न्यायालय कर दिया लेकिन विवादों के लिए मशहूर जस्टिस करनन ने चीफ जस्टिस के आदेश पर स्थगन लगा दिया. कानून के तहत सुप्रीम कोर्ट की बात छोड़ें, कोई निचली अदालत किसी ऊपरी अदालत का आदेश नहीं बदल सकती.