ola_uberनयी दिल्ली,   ऐप आधारित टैक्सियों द्वारा यात्रियों से मनमाना किराया वसूल करने के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर से जारी चेतावनी के दूसरे ही दिन आज ओला और उबेर की 18 टैक्सियों को जब्त कर लिया गया।

दिल्ली सरकार ने इन टैक्सियों को यात्रियों से निर्धारित किराये से ज्यादा किराया वसलूने के कारण जब्त किया है।

हालांकि कल श्री केजरीवाल की चेतावनी के तुरंत बाद ही उबेर और ओला टैक्सी सेवा ने फाैरन यह बयान जारी कर दिया था कि राजधानी में ऑड-ईवन योजना लागू होने के कारण यात्रियों को हाे रही दिक्कत तथा अपने साथी आऊटो और टैक्सी चालकों की रोजी- रोटी को किसी तरह का नुकसान नहीं हो, इसके लिए वह बढ़ा किराया फिलहाल तत्काल प्रभाव से वापस ले रहे हैं।

ऐप आधारित इन दोनों टैक्सी कंपनियों ने यह बयान भी जारी किया था कि ऐसे समय में जबकि दिल्ली वासियों को उनकी सबसे अधिक जरुरत है, वह एक विश्वसनीय सेवा देने के लिए दिल्ली सरकार के साथ पूरे सहयोग के साथ काम करेंगीं।

कल जारी बयान के बावजूद इन टैक्सियों द्वारा आज कई स्थानों पर यात्रियाें से मनमाना किराया वसूले जाने की शिकायत मिली जिस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए ऐसी 18 टैक्सियों को जब्त कर लिया गया।

इस बीच दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय ने लोेगों से अपील की है कि ऐप आधारित टैक्सी सेवाओं द्वारा जहां कहीं भी ज्यादा किराया वसूले जाने की खबर मिले वह इसकी शिकायत सरकार की ओर से उपलब्ध कराए गए टाेल फ्री नंबर 011 42400400 पर करें। ऐसी टैक्सियों को तुंरत जब्त कर लिया जाएगा।