नयी दिल्ली,

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लगाये गये आरोप को लेकर कांग्रेस ने आज भी राज्यसभा में जबर्दस्त हंगामा किया जिसके कारण सदन की कार्यवाही दो बार के स्थगन के बाद कल तक के लिए स्थगित कर दी गयी।

सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के हंगामे के कारण शून्यकाल और प्रश्नकाल नहीं हो सका। भोजनावकाश के बाद उप सभापति पी जे कुरियन ने कार्यवाही शुरू करने की कोशिश की लेकिन कांग्रेस सदस्यों के हंगामे के कारण कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी।

भोजनावकाश के बाद कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री और राजनयिकों पर गंभीर आरोप लगाये हैं और इसको लेकर कांग्रेस ने कभी माफी की मांग नहीं की है। कांग्रेस ने तो श्री मोदी से अपने बयान वापस लेने को कहा है।

उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव के दौरान पाकिस्तान के साथ मिलकर साजिश रचने का आरोप पूर्व प्रधानमंत्री और राजनयिकों पर लगाया गया था।

जिस बैठक को लेकर यह आरोप लगाया गया था उसमें न:न सिर्फ विदेशी राजनयिक शामिल थे बल्कि पूर्व सेना प्रमुख भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का कोई भी नेता पाकिस्तान के साथ मिलकर साजिश रचने की बात सोच भी नहीं सकता है। एक आम कांग्रेस कार्यकर्ता भी ऐसा नहीं कर सकता है।

इस पर श्री कुरियन ने कहा कि पीठ इस मुद्दे पर अपना निर्देश दे चुका है और वह इस पर कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं हैं। सदन के नेता, विपक्ष के नेता और संसदीय कार्यमंत्री को मिलकर इस मुद्दे का समाधान करना है। इसी दौरान कांग्रेस सदस्य ‘प्रधानमंत्री शर्म करो, प्रधानमंत्री माफी मांगों ’के नारे लगाते हुये सदन के बीचों -बीच आ गये।

तभी श्री कुरियन ने हंगामा कर रहे सदस्यों को शांत रहने की अपील की और विधायी कार्यवाही शुरू करने की कोशिश की लेकिन हंगामा जारी रहने पर उन्होंने सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी।

इससे पहले शून्यकाल और प्रश्नकाल भी हंगामे के कारण नहीं हो सका था। शीतकालीन सत्र के चार में से तीन दिन सदन में इसी मुद्दे पर बने गतिरोध के का कारण कोई कामकाज नहीं हो सका है।

Related Posts: