नयी दिल्ली,  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने किंगफिशर एयरलाइन्स के मालिक विजय माल्या को बार-बार दायरे से बाहर जाकर आर्थिक मदद देने के पीछे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अौर उनकी सरकार के वित्त मंत्री पी चिदंबरम का सीधा हाथ होने का आरोप लगाते हुए आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी से सवाल किया कि इस मामले में उनकी क्या भूमिका है।

भाजपा के प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में विजय माल्या द्वारा डॉ. मनमोहन सिंह को लिखे गये दो पत्र आैर श्री चिदंबरम एवं कंपनी के मुख्य वित्त अधिकारी रवि को लिखे गये एक-एक पत्र की प्रति पेश की। डॉ. पात्रा ने कहा कि अब तक पूछा जाता था कि माल्या को बैंकों से ऋण दिलाने के पीछे कौन से हाथ डोर खींचते हैं लेकिन अब साफ हो गया है कि वे हाथ डॉ. मनमोहन सिंह और श्री पी चिदंबरम के थे।

उन्हाेंने पूर्व प्रधानमंत्री के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू की किताब के उस बयान का हवाला देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय की सभी फाइलें श्री चटर्जी के हाथों 10 जनपथ की स्वीकृति के लिये जातीं थीं। उन्होंने कहा कि डॉ. सिंह, श्री चिदंबरम, श्रीमती सोनिया गांधी आैर श्री राहुल गांधी को जवाब देना चाहिये कि माल्या को इस कदर मदद देने में उनकी क्या भूमिका थी।

Related Posts: