dewasभोपाल,  मध्यप्रदेश के रतलाम संसदीय क्षेत्र और देवास विधानसभा उपचुनाव के लिए आज हो रहा मतदान शांतिपूर्ण बना हुआ है। देवास विधानसभा के मतदाता रतलाम संसदीय क्षेत्र के मतदाताओं की अपेक्षा ज्यादा उत्साहित दिखाई दे रहे हैं।
हालांकि सुबह मतदान अपेक्षाकृत धीमा होने के बाद अब दोनों स्थानों पर धीरे-धीरे मतदाताओं की मतदान केंद्रों तक आमद तेज हो रही है।

आधिकारिक जानकारी के मुताबिक सुबह 11 बजे तक देवास विधानसभा में मतदान का प्रतिशत लगभग 28.5 फीसदी रहा। वहीं रतलाम ग्रामीण में कुल 42.77 और रतलाम शहर में कुल 19.98 फीसदी मतदान की खबर है। इसी संसदीय क्षेत्र के झाबुआ जिले में 11 बजे तक 24.41 फीसदी और अलीराजपुर जिले में लगभग 14.97 फीसदी मतदाताओं ने मतदान किया। सभी स्थानों पर पुरुष मतदान प्रतिशत अधिक रहा। यहां दोपहर एक बजे तक औसतन 30 फीसदी मतदान हो चुका है।

रतलाम शहर के डोसीगांव क्षेत्र के मतदाताओं द्वारा मतदान का बहिष्कार किए जाने की खबर है। ग्रामीण अपनी स्थानीय समस्याओं, स्वच्छ पेयजल और सडकों की खराब स्थिति को सुधारे जाने की मांग को लेकर मतदान नहीं कर रहे हैं। हालांकि मतदान बहिष्कार की खबर मिलते ही आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं।

दोनों स्थानों पर सुबह सात बजे सख्त सुरक्षा प्रबंधों के बीच मतदान शुरू हो गया था। इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के जरिए मतदान शाम पांच बजे तक चलेगा।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मतदान के लिए दोनों उपचुनावों में 19 लाख 85 हजार पांच सौ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। प्रशासन ने निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से मतदान कराने के लिए जिला पुलिस बल और होमगार्ड के अलावा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की 20 कंपनियां तैनात की हैं। रतलाम में आठ और देवास में चार प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला आज ईवीएम में बंद हो जाएगा।

सूत्रों ने बताया कि देवास में 303 मतदान केंद्रों पर वोट डाले जा रहे हैं। इनमें शहरी क्षेत्र में 252 और 51 ग्रामीण क्षेत्र में स्थित हैं। क्रिटिकल मतदान केंद्रों की संख्या 121 है। रतलाम संसदीय क्षेत्र के 2200 मतदान केंद्रों में से 1792 ग्रामीण और 408 शहरी क्षेत्र में स्थित हैं। तीन सौ 97 मतदान केंद्र क्रिटिकल श्रेणी के हैं जहां सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं।

देवास विधानसभा उपचुनाव के लिए दो लाख 42 हजार आठ सौ 64 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। इनमें एक लाख 26 हजार से अधिक पुरूष और एक लाख 16 हजार से अधिक महिलाएं शामिल हैं। रतलाम संसदीय क्षेत्र में 17 लाख 42 हजार 676 मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल कर सकेंगे। इनमें आठ लाख 79 हजार से अधिक पुरूष और आठ लाख 63 हजार से अधिक महिलाएं तथा 32 अन्य मतदाता हैं।

अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए सुरक्षित रतलाम संसदीय क्षेत्र में मुख्य मुकाबला कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की निर्मला भूरिया के बीच है। बिहार विधानसभा चुनाव नतीजे से उत्साहित जनता दल (यू) ने भी अपना उम्मीदवार विजय हारी के रूप में मैदान में उतारा है। इनके समेत कुल आठ प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। रतलाम में भाजपा सांसद दिलीप सिंह भूरिया के निधन के कारण उपचुनाव हो रहा है।

देवास विधानसभा उपचुनाव में मुख्य टक्कर भाजपा की श्रीमती गायत्री राजे पवार और कांग्रेस के जयप्रकाश शास्त्री के बीच है। इनके समेत कुल चार प्रत्याशियों ने अपना भाग्य आजमाया है। देवास में पूर्व मंत्री एवं भाजपा विधायक तुकोजीराव पवार के निधन के कारण उपचुनाव कराया जा रहा है।  इन दोनों ही उपचुनावों के नतीजे 24 नवंबर को आ जाएंगे। मतों की गिनती का काम सुबह आठ बजे प्रारंभ होगा।

Related Posts:

कांग्रेस सत्ता में आई तो "यूपी की तस्वीर बदल दूंगा"
यूपी के नतीजे पवार को चौंका देंगे
दुनिया का सबसे बड़ा रक्षा सौदा
मुख्यमंत्री ने बाल विवाह रोकने के लिए मंत्रियों को पत्र लिखा
फैमिली डिप्लोमेसी की मेज पर मोदी - नवाज़ ने की द्विपक्षीय बातचीत
आरक्षण पर सफाई देने की बजाय भाजपा नेताओं की व्यर्थ बयानबाजी पर अंकुश लगाये प्रधा...