ujjain baad2उज्जैन में 4 बहे, 3 को बचाया, 
रविवार,19 जुलाई. प्रदेश को अधिकांश स्थानों पर कल से हो रही मूसलधार वर्षा के कारण महाकाल की नगरी उज्जैन तथा कई गांव टापू बने गये हैं और अनेक नदी नालों में उफान आ गया है। यहां मागी नदी में 4 लोग बह गए, जिनमें से तीन को बचा लिया गया है। मौसम विभाग के अनुसार उज्जैन में इस दौरान 319 मिमी वर्षा हुई है। इस वर्षा से शिप्रा नदी में बाढ़ आ गई तथा लगभग समूचे शहर में दो-दो फीट पानी भर गया है।

रेलें प्रभावित
रेलवे ट्रेक के भी पानी में डूबने से रेलों का आवागमन भी प्रभावित हुआ है। बिजली और टेलीफोन भी ठप है । क्षिप्रा नदी के कई घाट पानी में डूब गये है और घाटो पर बने अनेक छोटे छोटे मंदिरों के गुंबद तक पानी आ गया है । उज्जैन के सडक मार्ग भी अवरूद्ध है। भारी वर्षा से कालीसिंध, पार्वती, बेतवा, सीवन और अनेक बरसाती नाले उफन रहे हैं। आगरा मुंबई तथा जयपुर जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग भी कई जगह बारिश के पानी से बाधित हो गया है।

Related Posts: