शहनाई गेट के छज्जे का गिरा प्लास्टर

  • 5 मिनट पूर्व ही गेट को बंद किया गया था

नवभारत न्यूज उज्जैन,

महाकाल मंदिर में शुक्रवार सुबह बड़ा हादसा घटित होने से बच गया। मंदिर में शहनाई गेट का दो फीट लम्बा छज्जा जमीन पर आ गिरा। गनीमत रही कि कुछ मिनिट पहले ही उक्त गेट को बंद किया गया था।

महाकाल मंदिर में सुबह 7.30 बजे अचानक शहनाई गेट के छज्जे का 2 फीट लम्बा प्लास्टर भरभराकर जमीन पर आ गिरा। 5 मिनिट पूर्व ही इस गेट को मंदिर समिति द्वारा बंद किया गया था जिसके चलते मात्र 3 से 4 श्रद्धालु ही उक्त गेट के समीप थे जो बाल-बाल बच गए।

उल्लेखनीय हो कि पिछले कुछ महीनों से महाकाल मंदिर सभामंडप का निर्माण कार्य चल रहा है जिसके चलते शहनाई गेट से भक्तों को मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है। घटनाक्रम के समय उक्त गेट बंद कर दिया गया था। मंदिर में समय के अनुसार कुछ गेटों को बंद किया जाता है यही वजह रही कि बाबा महाकाल की कृपा से बड़ा हादसा घटित होने से बच गया।

पूर्व में भी घटित हो चुके हादसे

महाकाल मंदिर में करीब 20 साल पूर्व बड़ा हादसा घटित हुआ था, इस दौरान भगदड़ मचने पर 36 लोगों की जान चली गई थी वहीं 2 वर्ष पूर्व मंदिर परिसर में एक पेड़ गिरने से मासूम अपनी जान गवां बैठे थे वहीं मंदिर में प्रवेश के लिए बनाए जा रहे टनल में भी हादसा घटित हो चुका है बावजूद इसके मंदिर प्रशासन द्वारा घटित होते हादसों से सबक नहीं लिया जा रहा।

इनका कहना

शहनाई गेट का छज्जा गिरने पर दर्शन व्यवस्था में बदलाव किया गया और विशेष टीम बुलाकर निरीक्षण कराया गया। छज्जे के संधारण कार्य पुरा करने को लेकर निर्देश जारी किए गए हैं।
अवधेश शर्मा
प्रशासक महाकाल मंदिर

टीम पहुंची

घटनाक्रम की जानकारी लगते ही मंदिर प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई थी जिनके साथ कुछ मंदिर के पुजारी भी थे जिन्होंने छज्जा गिरने की जानकारी जुटाने का काम शुरू किया और तुरंत ही कर्मचारियों को बुलाकर गिरे छज्जे का मलबा साफ कराया। उल्लेखनीय हो कि पूर्व में भी नंदी गृह में इसी तरह छज्जा गिरने की घटना हुई थी।

Related Posts: