brazilब्रजीलिया,  संसद के निचले सदन में अपने खिलाफ महाभियोग को लेकर किए मतदान के बाद ब्राजील की राष्ट्रपति जुमा हुसेफ सांसदों के इस कदम से आहत हैं. उन्होंने इसे धोखा करार देते हुए कहा है कि वह इस्तीफा नहीं देंगी.

संसद के निचले सदन चैंबर ऑफ डेप्युटीज में रविवार रात महाभियोग के पक्ष में पड़े वोट के बाद पहली बार दिए अपने भाषण में जुमा ने कहा, यह किसी अंत की शुरुआत नहीं है. हम एक लंबी लड़ाई शुरू करने जा रहे हैं. वे मेरे सपनों और अधिकारों का हनन कर रहे हैं, लेकिन वे मुझे हरा नहीं सकते. लोकतंत्र हमेशा सही इतिहास के पक्ष में रहता है.

उन्होंने आगे कहा, यह केवल मुझे मिले जनादेश की लड़ाई नहीं है. मैं उन 5.4 करोड़ मतों के लिए भी लड़ूगी, जो मुझे मिले हैं. बता दें कि हुसेफ के खिलाफ महाभियोग चलाए जाने को लेकर हुए मतदान में इस प्रस्ताव के पक्ष में 342 वोट पड़े जबकि 130 प्रतिनिधियों ने इसके खिलाफ मतदान किया. महाभियोग प्रस्ताव को अब ऊपरी सदन सेनेट में भेजा जाएगा. यदि यह वहां से भी पारित हो जाता है तो उनके खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. इसके लिए उन्हें 180 दिनों तक पद से हटना होगा और सुनवाई के दौरान अपना पक्ष रखना होगा. इस दौरान उपराष्ट्रपति कार्यभार संभालेंगे.

Related Posts: