raigarhमुम्बई,   महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में सावित्री नदी पर आजादी से पहले बने एक पुल के कल देर रात ध्वस्त हो जाने से राज्य परिवहन निगम की दो बसों समेत कई अन्य वाहन बह गये। इस दुर्घटना में 25 से अधिक लोगाें के डूबने की आशंका है। महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री दिवाकर राउत ने यहां बताया, “राज्य परिवहन विभाग के काेंकण खंड की दो बसें नदी में बह गयी, जिसमें 20 से 22 लोग सवार थे। इसके अलावा कई अन्य निजी वाहन भी बह गये हैं।”

उन्होंने बताया कि क्षेत्र में भारी बारिश के कारण नुकसान का सही आकलन नहीं हो सका है। महाराष्ट्र राज्य परिवहन का एक दल मौके पर पहुंच गया है। राज्य के श्रम एवं खनन मंत्री प्रकाश मेहता भी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आपदा नियंत्रण बल (एनडीआरएफ) के दाे दल राहत एवं बचाव कार्य के लिए पहले ही पहुंच चुके थे। महाद और पोलदपुर तालुका के बीच बना यह पुल मुम्बई-गोवा राजमार्ग को जोड़ता है। महाराष्ट्र के राहत एवं पुनर्वास मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि यह पुल काफी पुराना था। यहां पर एक नया पुल भी बनाया जा चुका है जो अब परिचालन में है।

Related Posts:

अब महंगाई के मुद्दे पर सरकार की खिंचाई
सम्मेलन हिन्दी के लोकव्यापीकरण का बनेगा माध्यम
संयुक्त राष्ट्र महासचिव से मिले मोदी, पुस्तक भी भेंट की
दिल्ली-चंडीगढ़ रेलमार्ग को सेमी हाईस्पीड बनाने का काम एक साल में होगा शुरू
गरीबी हटाने के लिए सिर्फ नारे दिये गये : मोदी
नोटबंदी से उद्योगों को मिलेगा सस्ता ऋण : जेटली