हरदा,  नर्मदा सेवा यात्रा नयापुरा गांव पहुंची. नयापुरा में सोमवार को यात्रा का रात्रि विश्राम था. नयागांव में प्रवेश होने के साथ ही गांव की महिलाओं और बालिकाओं ने नर्मदा सेवा यात्रा का स्वागत किया.

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री रूस्तम सिंह ने कहा है कि समाज में महिलाओं की ताकत से बड़े से बड़ा सामाजिक बदलाव लाया जा सकता है. इसके लिए उन्होंने नर्मदा नदी के किनारे के गांव में नर्मदा सेवा समिति में अधिक से अधिक महिलाओं को शामिल किए जाने की बात कही.

स्वास्थ्य मंत्री रूस्तम सिंह नर्मदा सेवा यात्रा में करीब 9 किलोमीटर पैदल चले. उन्होंने जनसंवाद में कहा कि पद यात्रा से उन्हें महिलाओं की इच्छाशक्ति और उनकी ताकत का पता लगा है. यदि महिलाएं ठान लेगी तो नर्मदा नदी के तट साफ सुथरे और मां नर्मदा का पानी स्वच्छ रहेगा. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा के माध्यम से नशा मुक्त समाज तैयार किए जाने के भी प्रयास किए जा रहे है.

पहले नर्मदा नदी की पांच किलोमीटर तक की परिधि से शराब की दुकानें हटाई जा रही है. उन्होंने कहा कि शराब की दुकान हटाने का काम तो राज्य सरकार कर सकती है. लेकिन महिलाएं ठान ले तो परिवार के किसी भी सदस्य को शराब पीने से दूर रख सकती है.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि महिलाएं नर्मदा नदी में पूरी आस्था के साथ कपड़े की चुनरी चढ़ाती है, यदि वे संकल्प ले कि नर्मदा नदी के किनारों के ग्रामो पर फलदार वृक्ष लगाएगी और उनकी सुरक्षा करेगी, तो हम एक अच्छे उद्देश्य के साथ नर्मदा मां को हरियाली की चुनरी पहना सकेंगे.

 

Related Posts: