menka gandhi in bhopalभोपाल, 27 अगस्त. नभासं. मध्यप्रदेश में महिलाओं को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाने के लिए कई योजनाएं क्रियान्वित की गई हैं. लाड़ली लक्ष्मी योजना प्रदेश की महत्वाकांक्षी योजना है, जिसे पूरे देश में सराहा गया है. केंद्र सरकार कुपोषण को दूर करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. यह बात केंद्रीय महिला एवं विकास मंत्री मेनका गांधी ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान यहां कही. मंत्री मेनका गांधी पत्रकारों से चर्चा कर रही थी. इस अवसर पर प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री माया सिंह सहित महिला एवं बाल विकास के अधिकारी उपस्थित थे.

श्रीमती गांधी ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि केंद्र में भाजपा सरकार शासित होने के पहले दिल्ली में महिला एवं बाल विकास कार्यालय में कुछ भी नहीं था. यहां तक की स्टॉफ व अन्य संसाधनों की कमी थी. कुल मिलाकर महिलाओं के लिए कोई रुपरेखा ही नहीं थी. इसके पीछे उन्होंने कारण बताया कि पिछले सरकारों ने महिला के हितों का ख्याल ही नहीं रखा. कुपोषण की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है. हाल ही के आंकड़ों पर नजर डाले तो सामने आता है कि प्रदेश में कुपोषण काफी घटा है. आंगनबाडिय़ों पर खाद्यान्न का वितरण व सप्लाई के बारें में समूहों, एनजीओस को ऑर्डर दिए जाने के प्रश्न में उन्होंने कहा कि सरकार जूता बनाने से लेकर किराना की दुकान, हलवाई, अन्य निर्माण नहीं कर सकती है, इसके लिए प्राइवेट एजेंसी की आवश्यकता लेनी पड़ती है. महिला उत्पीडऩ व महिलाओं के साथ हो रहे आपराधिक मामलों के बारें में उन्होंने कहा कि जब तक मर्द यानि पुरूष व महिलाएं हैं, तब तक आपराधिक घटनाएं सामने आती रहेंगी.

Related Posts: