BPL1भोपाल,   राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित समय-सीमा में नगरीय निकायों एवं पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता-सूची का पुनरीक्षण करवायें. राज्य निर्वाचन आयुक्त आर. परशुराम ने यह निर्देश मतदाता-सूची पुनरीक्षण संबंधी प्रशिक्षण में दिये. उन्होंने कहा कि 18 से 30 वर्ष की महिलाओं को मतदाता-सूची में नाम जुड़वाने के लिये प्रोत्साहित करें.

परशुराम ने कहा कि विधानसभा की मतदाता-सूची की तरह नगरीय निकायों एवं पंचायतों की सूची हर साल एक जनवरी की स्थिति में पुनरीक्षित की जायेगी. इस संबंध में जरूरी संशोधन राज्य शासन द्वारा किये जा चुके हैं. आयुक्त ने कहा कि परीक्षण के बाद मतदान-केन्द्र कम किये जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि घर-घर जाकर नव-विवाहित महिला का नाम सूची में जुड़वायें.

सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्रीमती सुनीता त्रिपाठी ने कहा कि प्रशिक्षण में बतायी जा रही बातों को गंभीरता से सुनें. उन्होंने कहा कि पुनरीक्षण के दौरान पूरी सावधानी बरतें. मृत व्यक्तियों के नाम मतदाता-सूची से हटवायें.

उप सचिव दीपक सक्सेना तथा लेखाधिकारी प्रदीप शुक्ला ने मतदाता-सूची तैयार करने की प्रक्रियाओं की जानकारी दी. प्रशिक्षणार्थियों को तकनीकी बिन्दुओं की भी जानकारी दी गयी. प्रशिक्षण में इंदौर, सागर एवं शहडोल संभाग के जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारी और वेण्डर शामिल हुए. ग्वालियर, रीवा, नर्मदापुरम और भोपाल संभाग के अधिकारियों को 18 और जबलपुर, चम्बल और उज्जैन संभाग के अधिकारियों को 19 फरवरी को प्रशिक्षण दिया जायेगा.

Related Posts: