parrikarमुंबई,  रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज यहां कहा कि उनका मंत्रालय इस बात का अध्ययन कर रहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लैंगिक संवेदनशीलता पर ध्यान केंद्रित किए जाने के आह्वान के अनुरूप सशस्त्र बलों में महिलाओं को लड़ाकू भूमिका किस प्रकार सौंपी जा सकती है।

पर्रिकर ने कहा मेरा मंत्रालय इस दिशा में काम कर रहा है कि सशस्त्र बलों में महिलाओं को लड़ाकू भूमिका कैसे सौंपी जा सकती है और इस संबंध में नीतिगत फैसला जल्द लिया जाएगा। इस सप्ताह के शुरूआत में वायुसेना प्रमुख अरूप राहा ने कहा था कि भारतीय वायुसेना ने लड़ाकू विमानों के पायलट के तौर पर महिलाओं को शामिल करने के लिए एक प्रस्ताव भेजा है। पर्रिकर ने कहा यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे प्रधानमंत्री की बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और सेल्फी विद डॉटर पहलों को कुछ लोगों, खासतौर से तथाकथित धर्मनिरपेक्ष लोगों द्वारा गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है।

Related Posts:

पाकिस्तान में सीपीयू बैठक का बहिष्कार करेगा भारत
उत्तर प्रदेश ग्राम पंचायत मतदान: चाक चौबन्द सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शुरु
वायुसेना स्टेशन के नजदीक हिरासत में लिए गए दो कश्मीरी युवक
राष्ट्रीय युवा दिवस पर स्वामी विवेकानंद को कृतज्ञ देश ने किया याद
माल्या के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस
एनईसी को नयी दिशा दिये जाने की जरूरत : मोदी