हर आयु वर्ग के लोगों ने लिया मैराथन में हिस्सा

नवभारत न्यूज
भोपाल ,

महिलाओं के लिए सुरक्षित वातावरण के लिए रन भोपाल रन का आयोजन किया गया. मोतिलाल नेहरू स्टेडियम में सुबह 5 बजे से हर उम्र के लोग ट्रेक सूट पहने प्रतिभागियों ने 5 किलोमीटर, 11 किलोमीटर और 21 किलोमीटर के तीन चरणों में मैराथन में सहभागिता की.

दौडऩे को दिनचर्या का हिस्सा बनाने के उद्देश्य से आयोजित की गयी यह मैराथन स्वस्थ एवं स्वच्छ भोपाल की थीम पर आयोजित की गयी थी, जिसमें हजारों लोगो ने दौड़ लगायी. रन भोपाल रन को सांसद आलोक संजर और महापौर आलोक शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

इसमें राजधानी के कॉलेजों के स्टूडेटस भी शरीक हुये, कदम से कदम मिलाकर दौड़ते, ठककर रूककर फिर चलते युवा इस दौड़ के आकर्षण का केन्द्र थे. जनप्रतिनिधि भी 5 किमी हाफ मैराथन में दौड़ते नजर आये. महिलाओं के साथ हाल ही में हुयी घटनाओं के बाद इस बार रेस में महिलाओं की सुरक्षा को भी थीम में शामिल किया गया.

गिरे उठे फिर दौडऩे लगे

लाल परेड़ मैदान से शुरू हुयी इस मैराथन में सांसद आलोक संजर और महापौर आलोक शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर रन भोपाल रन की रवानगी की. यह हाफ मैराथन 5 किमी, 11 किमी और 21 किमी के तीन चरणों में आयोजित हुयी.

दौड़ में शामिल हुये प्रतिभागी संतुलन बिगडऩे से गिरकर, रूके, सम्भले और फिर दौडऩे लगे. आयोजन समिती द्वारा टी टी नगर स्टेडियम में स्वास्थ्य एवं अंगदान शिविर का आयोजन किया गया. जहां प्रतिभागियों के चेंकअप कर उन्हें अंगदान के लिए प्रेरित किया गया.

ट्रैकसूट में दौड़े जनप्रतिनिधी-मैराथन में महापौर आलोक शर्मा, अरूणेश्वर सिंह देओं, आलोक संजर सहित आला पुलिस अफसर दौड़ लगाते नजर आये. युवाओं और महिलाओं की भारी संख्या आकर्षण का केन्द्र रही.

आयोजको का कहना है कि रन भोपाल रन के माध्यम से व्यक्तियों को दौडऩे को उनकी दिनचर्या का अहम हिस्सा बनाना हमारा ध्येय ताकि आज की तनावपूर्ण वातावरण में वह शारीरिक एवं मानसिक तौर पर फिट रहे. यह मेडीटेंशन का एक जरिया जिससे हम तनाव से दूर रह सकते हैं.

रन भोपाल रन में शामिल हुये प्रतिभागियों की राय

सुबह पांच बजे से उठकर दौड़ का हिस्सा बनकर खुशी हुई, हजारों लोगों को एकसाथ इतनी सर्दी में दौड़ते हुये देख मेरा भी कांफिडेस बढ़ा.
नितिन गौर –
छात्र स्कोप कॉलेज

हम संकल्प संस्था के तहत पिछले दो महीनों से आयोजन की तैयारी में लगे हुये थे संस्था के 70 प्रतिभागियों ने शिरकत की. अंगदान के लिए प्रेरित किया गया.
मुस्कान माधवानी –
छात्रा बीएसएस कॉलेज

Related Posts: