27kk7नई दिल्ली,  दिल में कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो राहे खुद-ब-खुद बन जाती हैं. इस कथन को चरितार्थ किया है दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र राहुल गुप्ता ने, जिन्होंने 21 वर्ष की उम्र में ही यूरोप की सबसे ऊंची चोटी मॉस्को के माउंट एल्ब्रस फतह कर चोटी से ‘मेक इन इंडिया’ के नारे को बुलंद किया.

छत्तीसगढ़ के जनजातीय क्षेत्र से ताल्लुक रखने वाले राहुल ने 5642 मीटर ऊंची चोटी पर चढऩे के बाद एक वीडियो बनाया जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नये अभियान ‘मेक इन इंडिया’ का जिक्र किया. उन्होंने चोटी से तिरंगा झंडा भी लहराया. राहुल ने बातचीत में बताया कि मोदी के मिशन से वह खासा प्रभावित हुये हैं और इस मिशन में अपना योगदान देने का उनका यह अलग तरीका है. उन्होंने कहा कि उनका मिशन विश्व की सात सबसे ऊंची चोटियों को फतह करना है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का मेक इन इंडिया अभियान एक अलग तरह का अभियान है और मैं भी कुछ गलत तरीके से इस अभियान में योगदान देना चाहता हूं. मैंने मास्को में माउंट एल्ब्रस फतह करने के बाद वहां से ही इस नारे को बुलंद किया और इस अभियान में अपना योगदान देने का प्रयास किया. मेरा लक्ष्य है कि मैं जल्द ही विश्व की सात सबसे ऊंची पर्वत चोटियों को फतह करूं. राहुल ने कहा कि मैंने वर्ष 2013 में पहली बार लद्दाख क्षेत्र में पर्वतारोहण किया था और उस दौरान मुझे वित्तीय समस्याओं से जूझना पड़ा था लेकिन जब मैंने मन बना लिया तो राहें आसान होती चली गयीं.

Related Posts: