mp2अशोकनगर,  सघन करील कुंज के वन में बसा करीला धाम मां जानकी के दरबार में माघ मास की पूर्णमासी पर मेले का आयोजन प्रतिवर्ष की भांति किया गया.
जहां लगभग दो लाख से अधिक श्रृद्धालुओं ने माथा टेका.तो इसी क्रम में 18 माह कारावास में बितानें के बाद जेल से रिहा हुए प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा भी मां के दरवार में विगत रोज शीश झुकानें पहुंचे.

माघ माह की समाप्ति के बाद अब बंसत की बहारों में फागुन माह आरंभ हो चुका है.जहां होलिका महोत्सव की धूम भी इसी महीनें रहेगी.जिले के प्राचीन मंदिर करीला धाम पर मेले का आयोजन रखा गया था. जहां लोगों ने अपनी मनोतियां पूरी होने पर मां के दरबार में श्रृद्धा से शीश झुकाए हैं. त्रेताकालीन सभ्यता से जुड़ी महर्षि वाल्मीक की तपो स्थली करीला जहां सुप्रसिद्ध सिद्ध बाबा का चमत्कारिक स्थान है.

Related Posts: