space1वाशिंगटन,  अमेरिका में वर्जीनिया प्रांत के वालोप्स द्वीप से रसद और विभिन्न वैज्ञानिक उपकरणों को साथ लेकर जा रहे मानव रहित एंटेयर्स रॉकेट ने आज तड़के अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र के लिए उड़ान भरी। नासा टेलीविजन ने बताया कि रूस निर्मित इंजनों द्वारा संचालित 14 मंजिला लंबे इस रॉकेट का भारतीय समयानुसार तड़के 05:15 बजे प्रक्षेपण किया गया।

अमेरिकी अंतरिक्ष एवं रक्षा उपकरण निर्माता कंपनी कंपनी ऑर्बिटल एटीके ने इस रॉकेट का प्रक्षेपण किया है। आर्बिटल के अध्यक्ष फ्रैंक कुलबर्टसन ने संवाददाताओं को बताया कि सभी तैयारियों की पुन: जांच करने के लिए वैज्ञानिकों के अतिरिक्त समय देने के मकसद से रॉकेेट का प्रक्षेपण पांच मिनट की देरी से किया गया। गौरतलब है कि दो साल पहले एंटेयर्स रॉकेट में प्रक्षेपण के दौरान विस्फोट हो गया था।

आर्बिटल के प्रोग्राम इंजीनियरिंग के निदेशक अमांडा डेविस ने कहा “एंटेयर्स रॉकेट को दोबारा उड़ान भरते हुए देखकर मैं बहुत खुश हूं।” इस रॉकेट ने 2400 किलोग्राम खाद्य सामग्री, वैज्ञानिक उपकरणों और अन्य साजो-सामान से लदे सिग्नस कैप्सूल को लेकर एंटेयर्स रॉकेट ने पृथ्वी से 400 किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थित अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र के लिए उड़ान भरी। इस कैप्सूल के रविवार तक अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र पहुंचने की उम्मीद है।

Related Posts:

आमिर बोले बार-बार एक जैसे सवाल पूछना बोरिंग काम
म.प्र. चेप्टर के वार्षिक कार्यकारिणी चुनाव सम्पन्न
जंदल के मां-बाप ने कहा दोषी हो तो फांसी पर लटका दो
मप्र के अनेक क्षेत्रों में वर्षा की झड़ी
राजग में सीटों का बंटवारा: भाजपा 160, मांझी 20 सीट पर लडेंग़े
राष्ट्रपति ने किया केरल में मुजिरिस विरासत परियोजना का शुभारंभ