mayawatiनई दिल्ली,   सुप्रीम कोर्ट उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में नयी प्राथमिकी दर्ज करने संबंधी याचिका पर सुनवाई को बुधवार को तैयार हो गया.

शीर्ष अदालत में कमलेश वर्मा ने एक याचिका दायर की है, जिसमें याचिकाकर्ता ने मायावती के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया है. न्यायालय ने याचिका की सुनवाई पर सहमति जता दी है. यह मामला ताज कॉरीडोर से अलग है. हालांकि इस मामले में सीबीआई ने पूर्व मुख्यमंत्री का बचाव किया है.

सीबीआई की ओर से पेश एटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने न्यायालय में कहा कि मायावती के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज नहीं किया जा सकता, क्योंकि इसमें कोई मेटीरियल नहीं है.

रोहतगी ने दलील दी कि पहले ही इस मामले में आयकर न्यायाधिकरण और दिल्ली उच्च न्यायालय का फैसला आ चुका है. ऐसे में इस मामले में जनहित याचिका पर सुनवाई नहीं हो सकती.

Related Posts: