goyalपणजी,  ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने आज कहा कि सभी राज्यों ने मार्च 2019 तक या इससे पहले पूरे देश में सातों दिन 24 घंटे बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता जताई है।

श्री गोयल ने यहाँ राज्यों के बिजली एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रियों के दो दिवसीय सम्मेलन के अंतिम दिन कहा, “सरकार के देश में चौबीस घंटे बिजली उपलब्ध कराने के अभियान को पूरा करने के लिए सभी राज्य गंभीर प्रयास कर रहे हैं और मार्च 2019 तक इसके पूरा हो जाने की उम्मीद है।”

उन्होंने कहा कि वामपंथी चरमपंथ (एलडब्लयूई) से प्रभावित राज्यों को छोड़कर शेष सभी राज्यों ने 31 दिसंबर 2016 तक सभी वंचित गाँवों तक बिजली पहुँचाने का संकल्प व्यक्त किया है। इसके लिए अगले 30 दिन के भीतर वे राज्य निविदा आमंत्रित करेंगे। राज्यों ने 01 मई 2017 तक देश में 18,452 गाँवों के सभी परिवारों को शत-प्रतिशत बिजली उपलब्ध कराने की भी प्रतिबद्धता जताई।

श्री गोयल ने कहा कि राज्यों ने सरकार द्वारा विद्युत वितरक कंपनियों को वित्तीय सहायाता उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गई उदय योजना (उज्ज्वल डिस्कॉम अश्योरेंस योजना) के लिए करार करने और बिजली के स्मार्ट मीटर खरीदने पर भी सहमति जताई।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि देश के 25 करोड़ उपभोक्ताओं को बेहतर सेवाएँ उपलब्ध कराने की प्रतिबद्धता के मद्देनजर केंद्र सरकार द्वारा की गई खरीद के परिणामस्वरूप स्मार्ट मीटर की कीमत में 60 प्रतिशत तक की कमी आई है और यह 8,000 रुपये से घटकर 3,223 रुपये रह गई है।

उन्होंने कहा कि जलविद्युत क्षेत्र को बढ़ावा देने के उद्देश्य से राज्यों ने 25 मेगावाट या इससे कम की जलविद्युत परियोजनाओं के विकास में सहयोग देने की बात कही। उन्होंने कहा कि इसके लिए एक समिति गठित की जा चुकी है और वह 20 सितंबर 2016 तक अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

Related Posts: