malyaनई दिल्ली,  राज्यसभा की आचार समिति ने बैंकों के अरबों रुपये का कर्ज लेकर भागने वाले सांसद विजय माल्या की सदस्या रद्द करने की सिफारिश की है.

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं राज्यसभा सांसद डॉ. कर्ण सिंह की अध्यक्षता वाली समिति की आज यहां हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि माल्या की सदस्यता रद्द की जानी चाहिए. समिति ने उन्हें अपना पक्ष रखने के लिए एक सप्ताह का समय दिया है.

माल्या को एक सप्ताह का समय दिया जाना औपचारिक प्रक्रिया है और उनकी सदस्यता रद्द किया जाना तय है. गौरतलब है कि माल्या राज्यसभा के निर्दलीय सदस्य हैं. वह भाजपा और जनता दल-एस के समर्थन से वर्ष 2010 में उच्च सदन के लिए चुने गये थे. उनका कार्यकाल जुलाई में पूरा होने वाला है.

रिपोर्टों के अनुसार माल्या पर विभिन्न बैंकों का अरबों रुपये का कर्ज है, जिसे देने से बचने के लिए वह पिछले महीने देश छोड़कर चले गये थे. विदेश मंत्रालय ने प्रवर्तन निदेशालय के अनुरोध पर उनका पासपोर्ट रद्द कर दिया है.

Related Posts:

'खुर्शीद पर सोनिया, राहुल चुप क्यों'
पंजाब के मोगा में मां-बेटी को बस से फेंका, बेटी की मौत
रिजर्व बैंक का एकाधिकार समाप्त करने की तैयारी
भावी युद्ध शायद साइबर दुनिया में लड़े जाएं: पर्रिकर
सूरत राजद्रोह मामले में अदालत ने खारिज की हार्दिक की जमानत अर्जी
मोदी ने चन्द्रशेखर आजाद के शहीद स्थल पर जाकर दी श्रद्धाजंलि