vijay_malyaनई दिल्ली,  बैंकों के करीब 9,000 करोड़ रुपये न लौटा पाने के कारण चौतरफा घिरे विजय माल्या को विदेश जाने से रोकने के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के नेतृत्व में 17 बैंकों की याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट को सरकार ने बुधवार को बताया कि माल्या देश छोड़कर जा चुके हैं.

माल्या के खुद पेश होकर जवाब देने की बैंकों की मांग पर कोर्ट ने माल्या को नोटिस जारी कर दिया है. अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने बताया कि बेंगलुरु के ट्रिब्यूनल में बैंकों की याचिका दाखिल करने के ठीक बाद विजय माल्या ने देश छोड़ दिया है.

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले माल्या ने लंदन में बसने की बात कही थी. इस पर माल्या की प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें नहीं मालूम माल्या अभी कहां हैं. माल्या से उनकी बात सिर्फ ई-मेल के जरिए होती है. मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में टीएस ठाकुर और यूयू ललित की बेंच से बैंकों ने कहा कि इसकी पूरी आशंका है कि माल्या देश छोड़कर बाहर जा सकते हैं.

उन्होंने कोर्ट का ध्यान माल्या के उस बयान की ओर भी दिलाया, जिसमें उन्होंने डियाजियो से 515 करोड़ रुपए की डील के वक्त कहा था कि वे लंदन में बसना चाहते हैं.

इसके पहले ईडी ने माल्या के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत एक मामला भी दर्ज किया है. ईडी ने यह केस आईडीबीआई बैंक से लिए गए 900 करोड़ के
कर्ज को न चुकाने के मामले में किया है. इस मामले में ईडी इस बात की जांच
करेगा कि माल्या ने कहीं यह पैसा विदेश में तो नहीं ट्रांसफर किया है. बताया
जा रहा है कि ईडी जल्द ही इस मामले में माल्या से पूछताछ कर सकता है.

Related Posts: