पुलिस पूछताछ में हुआ खुलासा, हत्या से पहले मासूम की मां से मिला था आरोपी

खास बातें

  • पुलिस मासूम की मां का कराएगी आमना सामना
  • पुलिस ने कराया घटना का रिक्रिएशन
  • स्कूल प्रबंधन को नोटिस, दो दिन में मांगा जवाब

नवभारत न्यूज भोपाल,

मासूम की हत्या के बाद पुलिस गिरफ्त में आया आरोपी विशाल रूपानी अभी भी पुलिस को गुमराह कर रहा है. बुधवार को उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से एक दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है.

बुधवार को पुलिस ने स्कूल से लेकर घटनास्थल तक का रिक्रिएशन कराया. पुलिस इसके सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है कि जिन जिन रास्तों से आरोपी बच्चे को बोरी में भरकर ले गया, उन रास्तों के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं.

वहीं आरोपी इस बात को बार बार पुलिस के सामने स्वीकार रहा है कि घटना यानि सोमवार के दिन वह मासूम की मां से मिला था, हालांकि पुलिस अभी उसकी बातों पर यकीन नहीं कर रही है. पुलिस को यह सामने आया है कि आरोपी विशाल शनिवार को उसकी मां से अवश्य मिला था.

पुलिस का कहना है कि आरोपी व मासूम की मां का आमना सामना कराया जाएगा जिससे कुछ अहम जानकारी और सामने आ सकती है. वहीं पुलिस ने क्राइस्ट मैमोरियल स्कूल प्रबंधन को कारण बताओ नोटिस देकर दो दिन में जबाब मांगा है. पुलिस का कहना है कि लापरवाही सामने आने के बाद कुछ बिंदुओं पर जानकारी मांगी गई है, जिसके बाद माना जा रहा है कि स्कूल प्रबंधन पर मामला दर्ज हो सकता है.

गौरतलब है कि राजेंद्र नगर बैरागढ़ निवासी परसराम महावर का 8 वर्षीय बेटा भरत उर्फ कार्तिक क्राइस्ट मेमोरियल स्कूल में दूसरी कक्षा में पढ़ता था. सोमवार को उसे स्कूल से छुट्टी के समय 2 बजकर 10 मिनट पर बिट्टू उर्फ विशाल रूपानी अपने साथ ले आया और कृष्ण पलाजा स्थित ऑफिस में उसकी जूतों के लेस से गला घोंटकर हत्या करने के बाद बोरी में बंद कर मुबारकपुुर टोल नाके के पास फेंक आया था.

मासूम की शिनाख्ती के बाद पुलिस ने आरोपी विशाल रूपानी जो कि पहले बच्चे को ट्यूशन पढ़ाता था उसने घटना को अंजाम देना स्वीकार कर लिया.

अभी तक पुलिस इस एंगल पर जांच कर रही है कि आरोपी के मासूम की मां से अवैध संबंध की बात परिजनों को पता चलने पर उसका अपने यहां आना जाना बंद कर दिया था, जिसके चलते उसने बर्बाद करने के लिए यह सब किया.

आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में यह भी बताया है कि वह मासूम की मां को अपने साथ रखना चाहता था, लेकिन महिला के परिजन आड़े आ रहे थे. यह नहीं उन्होंने बात करने पर भी पाबंदी लगा लगा थी, जिसके चलते वह काफी आहत रहता था. टीआई सुधीर अरजरिया ने बताया कि आरोपी से घटना के संदर्भ में भौतिक साक्ष्य जुटाए गए हैं. फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है.

कैंडल जुलूस निकालकर फांसी की मांग

घटना सामने आने के बाद रहवासियों में आक्रोश कम होता नजर नहीं आ रहा है. बुधवार को राजेन्द्र नगर से चंचल चौराहे तक कार्तिक के परिजनों के साथ सैंकड़ों रहवासियों ने मौन कैंडल मार्च निकाला.

कार्तिक के घर से शुरू हुआ मौन कैंडल मार्च मेन रोड पर आते-आते आक्रोश में परिवर्तित हो गया और परिजनों व कॉलोनी के रहवासियों ने हत्या के आरोपी को फांसी देने की मांग करते हुए नारेबाजी की.

कैंडल मार्च में शामिल हुये युवकों ने बीच सड़क पर बैठकर जमकर नारेबाजी की. सभी ने एक स्वर में नारेबाजी करते हुये हत्या के आरोपी विशाल को फांसी की सजा देने की मांग की.

बताता था नेता

पुलिस के मुताबिक आरोपी विशाल रूपानी अपने आप को हिंदूवादी संगठन का नेता बताता था. उसके फेसबुक पर कई फोटो अपलोड़ हैं, जिसमें वह गले में गमछा डाले हुए फोटो पोस्ट किए हुए हैं. पुलिस के मुताबिक आवारा किस्म के लड़कों के साथ वह घूमता रहता था, इतना ही नहीं उसने हाल ही में मासूम के पिता परसराम माहवार को धमकी भी दी थी.

Related Posts: