mukesh-meenaनई दिल्ली, 14 जून. दिल्ली एंटी करप्शन ब्यूरो के चीफ़ मुकेश मीणा के ऑफिस में जासूसी किए जाने का मामला सामने आया है। सूत्रों के मुताबिक दो दिन पहले मीणा के दफ़्तर में एक जासूसी उपकरण मिला। बताया जा रहा है कि ये जासूसी उपकरण पेन की शक्ल में था। इसके बाद से एंटी करप्शन ब्यूरो में हड़कंप मचा हुआ है। इस बात की जांच की जा रही है कि यह उपकरण दफ्तर में कैसे पहुंचा और इसे वहां रखे जाने का क्या मकसद था।

एंटी करप्शन ब्यूरो में मीणा की नियुक्ति को लेकर दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच पहले से विवाद चल रहा है। दिल्ली सरकार ने नए एसीबी प्रमुख मुकेश मीणा को दिल्ली पुलिस वापस लौटने के लिए कहा था।

दिल्ली सरकार ने कहा था कि ज्वॉइंट कमिश्नर की पोस्ट एसीबी में है ही नहीं। मीणा ने साफ किया था कि उनकी नियुक्ति उपराज्यपाल ने की है, इसलिए यदि एलजी कहेंगे तो ही मैं वापस जाऊंगा।

Related Posts:

'डेबिट कार्ड' पर भी उठा सकते हैं 'क्रेडिट कार्ड' का मजा
अक्षय ऊर्जा से दूर होगा गांवों का अंधेरा : मोदी
कसूरी की किताब के विमोचन के लिए पाकिस्तान जाएंगे कुलकर्णी
असहिष्णुता के मसले पर देशवासियों को डरने की जरूरत नहीं : जस्टिस ठाकुर
मुस्लिम 3 मंदिर दे दें और 40 हजार मस्जिदें रख लें
महावीर जयंती पर राष्ट्रपति ने दी देशवासियों को बधाई