mukesh-meenaनई दिल्ली, 14 जून. दिल्ली एंटी करप्शन ब्यूरो के चीफ़ मुकेश मीणा के ऑफिस में जासूसी किए जाने का मामला सामने आया है। सूत्रों के मुताबिक दो दिन पहले मीणा के दफ़्तर में एक जासूसी उपकरण मिला। बताया जा रहा है कि ये जासूसी उपकरण पेन की शक्ल में था। इसके बाद से एंटी करप्शन ब्यूरो में हड़कंप मचा हुआ है। इस बात की जांच की जा रही है कि यह उपकरण दफ्तर में कैसे पहुंचा और इसे वहां रखे जाने का क्या मकसद था।

एंटी करप्शन ब्यूरो में मीणा की नियुक्ति को लेकर दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच पहले से विवाद चल रहा है। दिल्ली सरकार ने नए एसीबी प्रमुख मुकेश मीणा को दिल्ली पुलिस वापस लौटने के लिए कहा था।

दिल्ली सरकार ने कहा था कि ज्वॉइंट कमिश्नर की पोस्ट एसीबी में है ही नहीं। मीणा ने साफ किया था कि उनकी नियुक्ति उपराज्यपाल ने की है, इसलिए यदि एलजी कहेंगे तो ही मैं वापस जाऊंगा।

Related Posts:

बलात्कार का आरोप बदनाम करने की साजिश: राहुल
तेलंगाना रैली हुई हिंसक
पीठासीन अधिकारी नहीं आए तो कार्यवाही स्थगित
साक्षर भारत कार्यक्रम को जोड़ा जाये स्वच्छ भारत अभियान से : प्रणव
घात लगाकर किये गये हमले में तीन जवान शहीद, सेना की बदले की चेतावनी
कांग्रेस ने उच्चतम न्यायालय और चुनाव आयोग से की भाजपा पर कार्रवाई की मांग