धार/मनावर (नि.प्र.)

धार जिला अद्भुत जिला हैं यहां नर्मदा मैया की कृपा बरसती हैं। जितनी भी बार आता हूं मन भरता ही नहीं हैं। इसलिए धार जिले के विकास कार्यों से मॉडल जिला बनाया जाएगा। कांग्रेस 50 वर्षों में जो नहीं कर पाई हमने 10 से 12 वर्षों में वह कर डाला हैं ।

सरदार सरोवर परियोजना में जो लोग विस्थापित हुए हैं उनके लिए हर संभव प्रयास किए हैं। वे लोग भी हमारे ही भाई बहन हैं उनका दर्द भी हमारा दर्द हैं। उनका सही ढंग से पुनर्वास करना हमारी जवाबदारी हैं। उक्त विचार मुख्यमत्री शिवराज सिंह ने मनावर में आयोजित मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल सम्मेलन में संबोधित करते हुए व्यक्त किये।

उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में बड़े बांध नहीं बनते तो आप लोगों को मैं पानी कहां से देता किसानों के खेत सूखे रह जाते। छह माह में ओंकारेश्वर परियोजना के चैथे चरण से भी किसानों को सिचाई के लिए पानी उपलब्ध हो जाएगा।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में रेत के बढते हुए भावों को लेकर कहा कि रेत का व्यापार पहले बड़े बड़े ठेकेदार करते थे अब रेत के ठेके नहीं होंगे। अब रेत पंचायत के माध्यम से 125 रूपये ऑनलाइन रॉयल्टी के माध्यम से कोई भी ला सकेगा। रेत सस्ते भाव में उपलब्ध होगी और मजदूरों को रोजगार मिल जाएगा।

उसी प्रकार मध्यप्रदेश में अभी तक पोषण आहार बड़ी-बड़ी कंपनियां सप्लाई करती हैं। अब स्व. सहायता समूह शुद्ध पौस्टीक आहार बनाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में 26 जनवरी से भूमिहीनों को भूमि के पट्टे देने का कार्यक्रम शुरू किया जाएगा तथा अप्रैल 2018 तक पूर्ण कर लिया जाएगा।

मध्य प्रदेश में अब कोई भी भूमिहीन नहीं रहेगा तथा 2022 तक सभी को पक्के मकान बनवा दिए जाएंगे। धार जिले में इस वर्ष 23 हजार मकान बनाए जा रहे हैं तथा मनावर नगर में 691 मकान पूर्णता की और हैं।

किसानों के लिये भावंतर योजना लागू की गई तो विरोधियों द्वारा मेरी बुराई की गई। आज धार जिले के 6000 किसानों के खाते में छह करोड रुपए की राशि डाली गई हैं। सीएम ने कहा कि प्याज खरीदी मुद्दे पर भी ऐतिहासिक निर्णय लिया गया।

अधिकारी कहने लगे कि इतना प्याज का भंडार कैसे होगा सब प्याज सड जाएगा। मैंने कहा कि प्याज किसानों के घर भी सड़ेगा वह भी फेंकेंगे इससे अच्छा यह है कि प्याज खरीद कर उनका भंडारण करेंगे तथा सड जायेगा तो शिवराज फेंकेगा।

उन्होनें बताया कि करीब 650 करोड़ रुपए की प्याज खरीदी की गई। शिवराज सिंह ने कहा कि प्राइवेट कंपनियों के एमओयू साइन किए गए हैं तथा 5 लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में मासूम बालिकाओं से दुराचार करने वाले को फांसी दिये जाने वाला कानून शीघ्र बनाया जाएगा।

प्रदेश में अध्यापक भर्ती में 50 प्रतिशत महिलाओं को आरक्षण दिया जावेगा तथा 33 प्रतिशत आरक्षण पुलिस भर्ती में भी किया जावेगा। मुख्यमंत्री द्वारा मनावर में 600 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का शिलान्यास भी किया।

कार्यक्रम के स्वागत भाषण में विधायक रंजना बघेल ने क्षेत्रों में किए गए विकास कार्यों को गिनाया तथा मनावर को जिला बनाने एवं अन्य मांगों का मांग पत्र भी दिया। मुख्यमंत्री द्वारा 2018 में 100 बिस्तरो का अस्पताल तथा उमरबन में कॉलेज प्रारंभ करने की घोषणा की गई।

सांसद सावित्री ठाकुर ने कहा कि धार जिला प्रधानमंत्री सिंचाई योजना में सम्मिलित किया गया हैं साथ ही सरदारपुर बदनावर धार को नर्मदा से जोडऩे तथा माही नर्मदा को मिलाने का पुनीत कार्य करने की मांग की। साथ ही सांसद ने अमझेरा एवं धामनोद को तहसील बनाने की मांग रखी। कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्यमंत्री द्वारा कन्या पुजन किया गया तथा पुर्व नपा अध्यक्ष स्व. राजकुमार जैन को श्रद्धाजंली दी।

इस दौरान मंच पर प्रभारी मंत्री अंतर सिंह आर्य, संभागीय संगठन मंत्री चावडा, विधायक नीना वर्मा, वेलसिंह भुरिया, कालुसिंह ठाकुर, जिला पंचायत अध्यक्ष मालती पटेल, जिला भाजपा अध्यक्ष डा. राज बर्फा, उपाध्यक्ष रामेश्वर पाटीदार, महेंद्र परिहार, मुकाम सिंह किराडे, रमेश धाडीवाल, मनोज सोमानी, खेमराज पाटीदार, पुर्व सांसद छतरसिंह दरबार, मंडल अध्यक्ष शांतिलाल पाटीदार, राजेद्र श्रीमाली, समीरमल काकरेचा, मंडी अध्यक्ष शांता बाई सेन, उमरबन जनपद अध्यक्ष मैहदा बाई, मनावर जनपद उपाध्यक्ष दुर्गा बाई मण्डलोई मचासीन थे।

प्रारंभ में धार जिला कलेक्टर श्रीमन शुक्ला एवं एसपी विरेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री एवं अतिथियों का स्वागत किया। पश्चात् कार्यक्रम में उपस्थित हितग्राहीयों को विभिन्न विभागों के स्वीकृति पत्र वितरित किये गये। कार्यक्रम के पश्चात् मुख्यमंत्री द्वारा मंच से उतरकर भीड से आवेदन लिये।

Related Posts: